ताज़ा खबर
 

PM नरेंद्र मोदी के नाम के आगे नहीं लेगा ‘श्री’, ‘श्रीमान’ और ‘माननीय’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अब 'श्री', 'श्रीमान', 'माननीय', 'आदरणीय' और 'मिस्टर' जैसे टाइटलों से अलंकृत नहीं किया जाएगा अर्थात् प्रधानमंत्री के नाम के आगे इन टाइटलों का प्रयोग नहीं होगा।

Author नई दिल्ली | September 28, 2016 3:42 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अब ‘श्री’, ‘श्रीमान’, ‘माननीय’, ‘आदरणीय’ और ‘मिस्टर’ जैसे टाइटलों से अलंकृत नहीं किया जाएगा अर्थात् प्रधानमंत्री के नाम के आगे इन टाइटलों का प्रयोग नहीं होगा। इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से निर्देश जारी किया गया है। पीएमओ ने सभी मंत्रालयों को पीएम मोदी के नाम के आगे से इस तरह के परिशिष्ट नहीं लगाने के लिए कहा गया है और तय मानकों का पालन करने का निर्देश दिया गया है। उच्च मानकों के तहत प्रधानमंत्री को सबोधित करने के लिए केवल पीएम नरेंद्र मोदी का प्रयोग किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सभी विभागों को एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने के लिए भी कहा गया है जो कि विज्ञापन को लेकर पीएमओ की मंजूरी लेगा। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का कहना है कि पीएमओ इस संबंध में पहले भी कई बार नाराजगी जता चुका है कि विभागों के द्वारा सरकारी विज्ञापनों को लेकर निर्देश का पालन नहीं किया जाता है। कुछ मंत्रालयों में प्रधानमंत्री के नाम की जगह ‘मिस्टर’ या ‘माननीय’ का इस्तेमाल हो रहा है और बार-बार प्रयास करने के बावजूद इस मुद्दे पर सरकारी विज्ञापनों में कोई एकरूपता नहीं आई।

यह जाहिर से बात की कुछ मंत्रालय अपने विज्ञापनों में मंत्री के नाम की जगह ‘मिस्टर’, ‘माननीय’, ‘श्री’ और ‘श्रीमान’ का इस्तेमाल करते हैं। इसी के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के आगे भी इस तरह के टाइटल का प्रयोग किया जाता है। हाल ही में मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से विज्ञापन जारी किया गया था जिसमें मंत्रियों के नाम के आगे तो सम्मान देने वाले टाइटल लगे हुए थे लेकिन प्रधानमंत्री के नाम के आगे कोई टाइटल नहीं लगा हुआ था। हालांकि मंत्रालय ने मामला तूल न पकड़े इसलिए बाद में तीनों मंत्रियों के नाम से भी टाइटल हटा दिया गया था। बता दें कि प्रधानमंत्री कार्यालय इस पर बात पर कड़ी निगरानी करता है कि सोशल मीडिया और मेनस्ट्रीम मीडिया में मोदी सरकार को कितनी कवरेज मिल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App