ताज़ा खबर
 

अविश्‍वास प्रस्‍ताव: सोनिया गांधी बोलीं- किसने कहा हमारे पास संख्‍या बल नहीं?

नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए दिए गए नोटिस को लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आखिरकार मंजूर कर लिया है। टीडीपी के केसीनेनी श्रीनिवास की ओर से शून्य काल के दौरान नोटिस दिया गया था। विपक्षी दलों के पास पर्याप्त संख्या बल को लेकर उठ रहे सवालों के बीच यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि कौन कहता कि उनके पास पर्याप्त संख्या नहीं है?

Author नई दिल्ली | July 18, 2018 3:54 PM
कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी। (Source: PTI)

संसद का मानसून सत्र बुधवार (18 जुलाई) से शुरू हो गया। सत्र के पहले ही दिन विपक्षी दलों ने नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया। सदन की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने इसे स्वीकार कर लिया है। इस पर 20 जुलाई को चर्चा होगी। इसके साथ ही विपक्षी दलों के संख्या बल को लेकर भी कयासबाजी शुरू हो गई है। सवाल उठने लगे हैं कि क्या विपक्ष के पास अविश्वास प्रस्ताव को निचले सदन से पारित करवाने योग्य संख्या है। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संख्या बल को लेकर संदेह जताने वालों को जवाब दिया है। उन्होंने कहा, ‘कौन कहता है कि हमारे पास पर्याप्त संख्या नहीं है?’ बजट सत्र में भी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया गया था, लेकिन लोकसभा अध्यक्ष ने उसे मंजूर नहीं किया था। वाईएस जगनमोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने प्रस्ताव स्वीकार न होने पर सदन में जमकर हंगामा किया था। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न देने के कारण मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया गया था। वाईएसआर कांग्रेस के सदस्यों ने बाद में संसद की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया था।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹3750 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

लॉटरी से हुआ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस देने वाले का फैसला: संसद के मानसून सत्र में कई विपक्षी सदस्यों ने एक साथ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था। ऐसे में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को लॉटरी सिस्टम का सहारा लेना पड़ा, ताकि नोटिस देने वाले सदस्य और पार्टी के नाम की घोषणा की जा सके। लॉटरी में एनडीए के ही पूर्व सहयोगी टीडीपी के सदस्य केसीनेनी श्रीनिवास का नाम सामने आया। हालांकि, लोकसभा अध्यक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस लाने वाले सभी सदस्यों का नाम लिया था। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग न मानने पर टीडीपी ने शून्य काल के दौरान मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया। संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि सरकार अविश्वास प्रस्ताव का समाना करने के लिए तैयार है। उन्होंने दो तिहाई बहुमत होने का भी दावा किया। टीडीपी के सदस्यों ने बजट सत्र के दौरान भी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था, लेकिन अध्यक्ष ने नोटिस को ठुकरा दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App