ताज़ा खबर
 

राजग सरकार पर बरसे नीतीश, कहा- मोदी सरकार सिर्फ सपने दिखाती है, ‘राष्ट्रप्रेम’ पर उठाए सवाल

नीतीश कुमार ने आरोप लगाया कि यह कैसा राष्ट्रवाद है कि जेएनयू के छात्र को जेल में बंद कर दिया जाता है

Author पटना | March 26, 2016 9:01 PM
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फाइल फोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत राजग सरकार पर विदेश से काला धन वापस लाने सहित पिछले लोकसभा चुनाव में किए गए अन्य वादों को पूरा नहीं करने तथा जनता को प्रभावित करने वाली समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाने का आरोप लगाया। यहां शनिवार (26 मार्च) को आयोजित जदयू की राज्य कार्यकारिणी, सांसदों, विधायकों, पार्षदों, जिला अध्यक्षों तथा पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में नीतीश ने कहा कि केंद्र में जो सरकार है वह सपना दिखाती है। पिछले लोकसभा चुनाव के समय विदेश से काला धन वापस लाने और युवाओं को रोजगार सहित जनता से किए गए अन्य वादों को पूरा नहीं कर पाए इसलिए आरएसएस द्वारा लव जिहाद, घर वापसी, गौ मांस और देश्रदोह जैसे भावनात्मक मुद्दों को उभारा जा रहा है।

उन्होंने आरोप लगाया कि यह कैसा राष्ट्रवाद है कि जेएनयू के छात्र को जेल में बंद कर दिया जाता है और संसद पर हमले मामले में सजा पाने वाले अफजल गुरू के समर्थन में जम्मू कश्मीर विधानसभा में प्रस्ताव लाने वाले (पीडीपी) से राम माधव समर्थन मांगने जाते हैं। यह कैसा राष्ट्र प्रेम है। नीतीश ने आरएसएस की सोच पूर्व की भांति होने तथा केवल उनके हाफ पैंट की जगह फुल पैंट बदलने का आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी प्रतिबद्धता है ‘राजनीतिक नैतिकता’। भाजपा नैतिकता का पाठ पढ़ाती है तो उसे बताना चाहिए कि मुजफ्फरनगर के दंगे में आरोपी भाजपा नेताओं सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गयी। उन्होंने कहा कि हमारे सात निश्चय से लोगों का जीवन स्तर बदलेगा।

नीतीश ने करीब तीन साल पूर्व भाजपा से नाता तोडने के अपने निर्णय की चर्चा करते हुए कहा कि जून 2013 में सैद्धांतिक कारणों से अलग हुए लेकिन उस समय हम लोगों के बारे में कहा गया कि व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के कारण अलग हुए। लोकसभा चुनाव के बाद हमलोगों को हारा हुआ करार दिया गया था। हाल में संपन्न हुए बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन (जदयू-राजद-कांग्रेस) को सफलता मिली। तीनों दल के नेता और कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं। संपर्क यात्रा, पर्चा पर चर्चा और घर-घर दस्तक हमारे प्रचार अभियान की नीति और रणनीति सफल हुई। भाजपा ने अकूत धन का इस्तेमाल किया हेलीकाप्टर पर साईकिल भारी पडा।

नीतीश ने अपने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को पिछले बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की भारी जीत को लेकर महागठबंधन, अपनी ओर और अपनी पार्टी जदयू की ओर बधाई दी और उन्हें शाल भेंटकर सम्मानित किया। नीतीश ने कहा कि 20 सूत्रीय कमेटी होगी जो महागठबंधन (जदयू-राजद-कांग्रेस) के तीनों दलों से बातचीत के बाद बनायी जाएगी।

उन्होंने कहा कि पांच जून से जदयू का सदस्यता अभियान प्रारंभ किया जाएगा तथा पार्टी के जिला कार्यालय में जन शिकायत कोषांग का गठन किया जाएगा एवं दो माह के भीतर जदयू की प्रखंड इकाई और जिला इकाई का कार्यालय होगा। जदयू की शनिवार (26 मार्च) की यह बैठक सदस्यता अभियान, सात निश्चय और मद्य निषेध विषयों को लेकर आयोजित की गयी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App