ताज़ा खबर
 

सरकारी डॉक्टर्स दे देते हैं गलत सर्टिफ़िकेट, इसलिए…नितिन गड़करी ने दी राजनाथ सिंह को सलाह

केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से कहा कि अपने ड्राइवर की आँख प्राइवेट डॉक्टर से चेक करवाएँ क्योंकि सरकारी डॉक्टर गलत सर्टिफिकेट जारी कर देते हैं।

Nitin Gadkari, Rajnath Singhसड़क सुरक्षा के मामले में नितिन गडकरी ने राजनाथ सिंह को दी सलाह। (फोटो- पीटीआई)

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सड़क दुर्घटनाओं को लेकर कई अहम बातें कही हैं। उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को भी सलाह दी कि वह अपने ड्राइवर की आंखों की जांच किसी प्राइवेट डॉक्टर से करवाएं क्योंकि सरकारी डॉक्टर गलत सर्टिफिकेट जारी कर देते हैं। सोमवार को केंद्रीय मंत्री ने सड़क सुरक्षा माह का उद्घाटन किया और कहा कि सड़क दुर्घटना में 70 फीसदी मौतें 18-45 आयुवर्ग के लोगों की होती है। उन्होंने कहा कि अगर सख्तदत नीति न बनाई गई और इंतजार करते रहे तो 2030 तक कई लाख लोंगों की मौत हो जाएगी।

गडकरी ने कहा कि कई सारे ड्राइवरों को मोतियाबिंद की शिकायत होती है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सावधान करते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी अधिकारियों को की भी अपने ड्राइवरों की आँखों की अच्छी तरह जांच करवानी चाहिए। सरकारी ड्राइवर कई बार अपनी नौकरी बचाने के लिए खराब दृष्टि के बावजूद फर्जी सर्टिफिकेट बनवा लेते हैं। गडकरी के बाद राजनाथ सिंह बोलने उठे औऱ कहा कि उनके सहयोगी ने बताया है कि ड्राइवर की आंखों की जांच करवाई गई है और वे बिल्कुल दुरुस्त हैं।

कार्यक्रम में नितिन गडकरी ने कहा कि हर दिन सड़क दुर्घटना में औसतन 415 लोगों की मौत हो जाती है। उन्होंने कहा, ‘हमने स्वीडन में हुए सम्मेलन में वादा किया था कि सड़क हादसों से होने वाली मौतों में 50 फीसदी की कमी लाई जाएगी। तमिलनाडु में सड़क हादसों में 53 फीसदी की कमी आई है। 2015 तक इसमें 50 फीसदी की गिरावट नहीं लाई गई तो 2030 तक छह-सात लाख लोगों की मौत हो जाएगी।’

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार इन दुर्घटनाओं को कम करने के लिए 14 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी। उन्होंने कहा, ‘विश्व बैंक और एशियाई विकास बैंक ने सात-सात हजार करोड़ रुपये की दो परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है। वित्त मंत्रालय से भी जल्द ही मंजूरी मिल जानी चाहिए।’ उन्होंने उम्मीद जताई है कि जल्द ही 40 किलोमीटर रोजाना सड़क बनाने का लक्ष्य भी हासिल कर लिया जाएगा। अभी रोज 30 किलोमीटर लंबी सड़क बनाई जा रही है। गडकरी ने कहा कि सरकार के साथ लोगों की व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी है कि सड़क नियमों का पालन किया जाए और खुद के साथ परिवार को सुरक्षित रखा जाए।

Next Stories
1 जानें-समझें, किसानों की कमाई दोगुनी: कितनी हकीकत कितना फसाना
2 अर्नब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ को हाईकोर्ट की लताड़- खुद ही पुलिस, वकील, जज बन गए और फैसला भी सुना दिया
3 शीर्ष अदालत ने कहा, ट्रैक्टर रैली पर फैसला दिल्ली पुलिस के जिम्मे
ये पढ़ा क्या?
X