ताज़ा खबर
 

नीरव मोदी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, ED ने दुबई में जब्‍त की 57 करोड़ की 11 प्रॉपर्टी

ED ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। जांच एजेंसी ने नीरव की दुबई स्थित 11 संपत्तियों को जब्‍त कर लिया है। इसमें फायरस्‍टार डायमंड एफजेडई कंपनी की प्रॉपर्टी भी शामिल है। मनीलांड्रिंग कानून के तहत जब्‍त संपत्तियों का मूल्‍य तकरीबन 57 करोड़ रुपये बताया गया है।

नीरव मोदीः डायमंड कारोबारी नीरव मोदी और उनके रिश्तेदार मेहुल चौकसी पीएनबी में हुए करीब 13000 करोड़ रुपए के घोटाले के आरोपी हैं। नीरव और उनके रिश्तेदारों ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की। फिलहाल नीरव मोदी और मेहुल चौकसी फरार हैं। सरकार ने दोनों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने के लिए इंटरपोल का रुख किया है। (file photo)

पंजाब नेशनल बैंक में हुए हजारों करोड़ रुपये के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ भारतीय जांच एजेंसी ने बड़ी कार्रवाई की है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दुबई में नीरव मोदी की 11 संपत्तियों को जब्‍त कर लिया है। इसकी कुल कीमत तकरीबन 56.8 करोड़ रुपये आंकी गई है। ईडी ने मनीलांड्रिंग रोकथाम कानून के तहत यह कार्रवाई की है। जब्‍त संपत्तियों में नीरव मोदी की ग्रुप कंपनी फायरस्‍टार डायमंड एफजेडई की प्रॉपर्टी भी शामिल है। पीएनबी घोटाला सामने आने के पहले से ही नीरव मोदी देश से फरार है। नीरव और उसके मामा मेहुल चोकसी पर फर्जी दस्‍तावेज के आधार पर हजारों करोड़ रुपये का लोन ले लिया। भांडा फूटने से पहले ही मामा-भांजा देश छोड़ दिया था।

पंजाब नेशनल बैंक में हजारों करोड़ का घोटाला सामने आने से पहले ही नीरव मोदी और मेहुल चोकसी भारत छोड़ चुके थे। मोदी-चोकसी ने मुंबई स्थित बैंक की शाखा के कुछ कर्मचारियों के साथ मिलीभगत कर फर्जी दस्‍तावेज के जरिये पीएनबी को 13,000 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का चूना लगाया था। बैंकिंग सेक्‍टर में इसे अब तक का सबसे बड़ा घोटाला माना जा रहा है। घोटाला उजागर होने के बाद सीबीआई के साथ ही ईडी ने भी जांच शुरू कर दी थी। इस बीच, चोकसी ने विदेशी नागरिकता भी हासिल कर ली। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नीरव मोदी ने भी विदेशी नागरिकता हासिल करने की कोशिश की थी, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई।

ईडी ने पीएनबी को हजारों करोड़ रुपये का चूना लगाकर फरार हुए कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ कार्रवाई करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है। इसके बावजूद मोदी की संपत्तियों को बेचकर घोटाले की रकम को रिकवर करना जांच एजेंसी के लिए आसान काम नहीं है। जांच एजेंसी सैकड़ों करोड़ की प्रॉपर्टी जब्‍त कर चुकी है। पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में कई बैंक घोटाले सामने आ चुके हैं। इसे लोन फर्जीवाड़े के जरिये ही अंजाम दिया गया।

पीएनबी घोटाला के उजागर होने के बाद इस मामले पर राजनीति भी तेज हो गई थी। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इसके लिए सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्‍मेदार ठहराया था। बता दें कि डावोस (स्विट्जरलैंड) में वर्ल्‍ड इकोनोमिक फोरम के शिखर सम्‍मेलन में भारतीय व्‍यवसायियों के प्रतिनिधिमंडल में नीरव मोदी भी शामिल थे। इस दल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोटो भी खिंचवाई थी। इस तस्‍वीर के सामने आने के बाद विपक्ष पीएम मोदी के खिलाफ और हमलावर हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 ब्रिटिश कोर्ट से CBI को झटका, कमजोर कागजी कार्रवाई के चलते भारतीय व्‍यवसायी के खिलाफ केस खारिज
2 Ayodhya Diwali Celebration 2018 Updates: सीएम योगी का बड़ा ऐलान, फैजाबाद जिले का नाम बदलकर ‘अयोध्या’ किया
3 भाजपा के पूर्व सांसद और विहिप की मांग- फैजाबाद को श्री अयोध्या करें