ताज़ा खबर
 

गोवा: भाजपा नेता का विवादित बयान, बोले- पूरे देश में नाईजीरियाई हैं एक समस्या

गोवा के पर्यटन मंत्री दिलीप पारुलेकर ने कहा, ‘वे (नाइजीरियाई) लोग गोवा या भारत में ठहरने की कोशिश करते हैं और मादक पदार्थों तथा अन्य अवांछित चीजों में संलिप्त होते हैं।’

पणजी | Updated: May 30, 2016 10:11 PM
गोवा के पर्यटन मंत्री दिलीप पारुलेकर। (एएनआई फोटो)

दिल्ली में अफ्रीकियों पर हुए कई हमलों के बीच गोवा के पर्यटन मंत्री दिलीप पारुलेकर ने नाईजीरियों को स्वदेश भेजने के लिए एक सख्त कानून की सोमवार (30 मई) मांग की। उन्होंने दावा किया कि वे लोग भारतीय कानून से टकराव मोल लेते हैं ताकि वे अपने ठहरने की अवधि बढ़ा सकें और मादक पदार्थों तथा अन्य अपराधों में लिप्त रहते हैं। पर्रा गांव में 39 साल की एक स्थानीय महिला से एक नाईजीरियाई द्वारा चाकू का भय दिखा कर कथित तौर पर बलात्कार किए जाने के एक दिन बाद भाजपा नेता की यह टिप्पणी आई है। पारुलेकर ने बताया, ‘नाईजीरियों की समस्या सिर्फ गोवा में नहीं है, वे समूचे देश में है। वे (नाईजीरियाई) यहां पढ़ाई करने आते हैं और समस्या पैदा करते हैं ताकि उनके खिलाफ मामला दर्ज हो।’’

Read Also: दिल्ली: आधे घंटे में चार हमले, 7 अफ्रीकी लोगों को बुरी तरह पीटा, बोले- हमारे देश से भाग जाओ

सलीगाव-कालनगुट पठार पर ठोस कूड़ा प्रबंध सुविधा केंद्र का उद्घाटन करने के एक कार्यक्रम से इतर वह संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘वे लोग गोवा या भारत में ठहरने की कोशिश करते हैं और मादक पदार्थों तथा अन्य अवांछित चीजों में संलिप्त होते हैं।’ उन्होंने दिल्ली में अफ्रीकी नागरिकों पर हुए कई हमलों पर एक सवाल के जवाब में यह कहा। इन हमलों को नस्ली प्रकृति का बताया जा रहा है। अपने एक हमवतन की हत्या को लेकर अफ्रीकी नागरिकों के एक समूह द्वारा पणजी के पास पोरवोरीम में राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित किए जाने की दो साल पहले की एक घटना को याद करते हुए मंत्री ने कहा, ‘हमारे पास एक सख्त कानून होना चाहिए ताकि हम उन्हें स्वदेश भेज सकें। लेकिन दुर्भाग्य से फिलहाल भारत में ऐसा कोई कानून नहीं है।’

Read Also: अफ्रीक्री नागरिकों पर हमला: लालू ने केंद्र से पूछा- दिल्ली में किस तरह का शासन है, जंगल राज या फिर तानाशाही?

राष्ट्रीय राजधानी में कांगो के एक नागरिक की हत्या सहित अफ्रीकियों पर हुए कई हमलों के चलते अफ्रीकी दूतों ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की। इस पर केंद्र सरकार को कदम उठाना पड़ा और अफ्रीकियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कोशिशें शुरू करनी पड़ी। हाल ही में हैदराबाद में कार पार्किंग को लेकर एक नाईजीरियाई छात्र को एक स्थानीय व्यक्ति ने पीटा।

Next Stories
1 पाकिस्तानी एक्ट्रेस सलमा आगा को मिलेगा भारत का आजीवन वीजा
2 अफ्रीकी नागरिकों पर हमला: लालू ने केंद्र से पूछा- दिल्ली में किस तरह का शासन है, जंगल राज या फिर तानाशाही?
3 रितेश देशमुख की इस लत के बारे में अंजान हैं उनके फैंस, जानिए क्या है वो सीक्रेट?
ये पढ़ा क्या?
X