ताज़ा खबर
 

वायु प्रदूषण पर फिर सख्ती दिखाते हुए बोला एनजीटी- जुर्माना नहीं भरने वालों पर लगेगा अतिरिक्त जुर्माना

एनजीटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने दिल्ली सरकार से उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है जो कूड़ा जलाकर या निर्माण गतिविधियों के जरिए धूल उड़ाकर उसके आदेश का उल्लंघन करते है।

Author नई दिल्ली | November 22, 2017 4:16 AM
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल। (File Photo)

दिल्ली में बढ़े वायु प्रदूषण के स्तर को लेकर सख्त रुख अपना चुके राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने मंगलवार को कहा कि अगर कोई व्यक्ति वायु प्रदूषण के लिए जुर्माना देने से इनकार करता है तो उस पर अतिरिक्त जुर्माना लगाया जाएगा और उसे हरित अधिकरण के सामने पेश होने का नोटिस दिया जाएगा।  एनजीटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने दिल्ली सरकार से उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है जो कूड़ा जलाकर या निर्माण गतिविधियों के जरिए धूल उड़ाकर उसके आदेश का उल्लंघन करते है। हरित पैनल ने दिल्ली सरकार और नगर निगमों को उल्लंघन करने वाले उन लोगों को नोटिस देने के लिए कहा जो पर्यावरण को प्रदूषित करने के लिए जुर्माना देने से इनकार करते हैं।

पीठ ने कहा, ‘दिल्ली सरकार और नगर निगमों ने विभिन्न उल्लंघनों में एक हजार से पांच लाख रुपए तक पर्यावरण मुआवजा देने के लिए नोटिस जारी किए। हालांकि कुछ नोटिसों में जुर्माना भरने से इनकार कर दिया गया।’ पीठ ने कहा, ‘इसके मद्देनजर हम निर्देश देते हैं कि कोई भी व्यक्ति जो पर्यावरण मुआवजा देने से इनकार करता है, उसे नोटिस भेजा जाएगा और साथ ही उसे एनजीटी के सामने पेश होने के लिए कहा जाएगा। हम स्पष्ट करते हैं कि वे अतिरिक्त जुर्माना भरने के लिए उत्तरदायी होंगे।’ मामले की अगली सुनवाई 24 नवंबर को होगी। अधिकरण ने हाल ही में प्रदूषण की स्थिति काफी खराब होने के बाद दिल्ली-एनसीआर में निर्माण गतिविधियों पर रोक लगा दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App