ताज़ा खबर
 

एंकर ने कहा देश का खजाना खाली है तो बिफरे बीजेपी प्रवक्ता- आपकी कंपनी का खर्चा कहां दिखता है?

दरअसल एक चैनल पर बहस का मुद्दा था कि ना निवेश ना मांग कैसे होगा देश का विकास ?इस कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता नरेंद्र तनेजा आए हुए थे। वीडियो में दिख रहा है कि डिबेट में बैठे पैनलिस्ट कहते हैं कि देश में निवेश नहीं हो रहा इस पर बीजेपी के प्रवक्ता नरेंद्र तनेजा उदाहरण देने लगे।

Author नई दिल्ली | Updated: August 18, 2019 10:28 PM
बीजेपी प्रवक्ता नरेंद्र तोमर।

देश में आर्थिक मंदी के संकेतों को लेकर हर तरफ चर्चा तेज हो गई है। टीवी चैनल से लेकर अन्य जानकारों का कहना है कि  यह आर्थिक मंदी के संकेत हैं। इसी क्रम में एक चैनल पर बहस के दौरान भाजपा के नेता टीवी चैनल के न्यूज एंकर पर बिफर गए और उन्होंने यहां तक कह दिया कि आपकी कंपनी का खर्चा कहां दिखता है। दरअसल एक चैनल पर बहस का मुद्दा था कि ना निवेश ना मांग कैसे होगा देश का विकास ?इस कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता नरेंद्र तनेजा आए हुए थे। वीडियो में दिख रहा है कि डिबेट में बैठे पैनलिस्ट कहते हैं कि देश में निवेश नहीं हो रहा इस पर बीजेपी के प्रवक्ता नरेंद्र तनेजा  उदाहरण देने लगे।

उन्होंने कहा कि ओएनजीसी  अकेले 80 हजार करोड़ रुपए का निवेश कर रही है। इंडियन ऑयल 32 हजार करोड़ का निवेश करने जा रही है। स्टील अथॉरिटी ऑफ  इंडिया 18 हजार करोड़ का निवेश कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि निजी कंपनियों द्वारा भी  निवेश किया जा रहा है, मुझे वक्त दीजिए मैं धीरे- धीरे सारे नंबर आपके सामने रख दूंगा। मैं हवा में बात नहीं कर रहा। इस पर टीवी एंकर ने कहा कि मैं भी हवा में बातें नहीं कर रहा हूं।

इसके बाद एंकर ने कहा कि अच्छा एक बात तो मानना पड़ेगी की पैसा नहीं कई सेक्टरों में , बैंककर्मी रिकवी एजेंट हो गए हैं। खजाना खाली है। इस पर बीजेपी प्रवक्ता बिफर गए और कुछ  उदाहरण देने के बाद कहते हैं कि  आप बताइए आपकी कंपना का खर्चा कहां दिखता है?गौरतलब है कि भारत में ऑटो सेक्टर में मंदी का असर साफ दिख रहा है।हाल ही में ऑटो सेक्टर में मांग की कमी के चलते मारूति ने अपने 3000 अस्थायी कर्मचारियों को कंपनी से निकाल दिया। वहीं मंदी के चलते हीरो मोटोकार्प ने चार दिन के लिए अपना कारखाना बंद रखा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories