ताज़ा खबर
 

बंगाल और केरल में राजनीतिक हत्याओं को नरभक्षिता बता बोले पैनलिस्ट- बेटों को मारकर मां को खून पिलाते हैं

पैनलिस्ट संगीत रागी ने कहा कि बंगाल और केरल को राजनीतिक हिंसा की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। उनकी परिभाषा के मुताबिक इन राज्यों में राजनीतिक हत्या नहीं होती बल्कि ये राजनीतिक नरभक्षिता की संस्कृति का प्रतीक है।

TV DEBATE national news india newsडिबेट में पैनलिस्टों के बीच खूब बहस हुई। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

टीवी चैनल न्यूज18 इंडिया के कार्यक्रम ‘भैयाजी कहिन’ में पश्चिम बंगाल और केरल में कथित राजनीतिक हत्याओं पर टीएमसी और भाजपा प्रवक्ताओं के बीच खूब बहस हुई। दोनों नेताओं ने एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए। डिबेट में मौजूद राजनीतिक विश्लेषक संगीत रागी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने दोनों राज्यों में हुई राजनीतिक हत्याओं को नरभक्षिता की संस्कृति बताया।

पैनलिस्ट संगीत रागी ने कहा कि बंगाल और केरल को राजनीतिक हिंसा की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। उनकी परिभाषा के मुताबिक इन राज्यों में राजनीतिक हत्या नहीं होती बल्कि ये राजनीतिक नरभक्षिता की संस्कृति का प्रतीक है। ऐसी संस्कृति वामपंथ में देखने को मिलेगी। संगीत रागी ने स्टालिन और चीन का जिक्र कर कहा कि इन्होंने दूसरे की असहमति को स्वीकार नहीं किया, इसलिए मारने की संस्कृति है।

उन्होंने साल 1970 का एक उदाहरण देकर बताया कि तब एक मां के दो बेटों को वामपंथियों ने मार डाला। इसके बाद मां को उन बेटों का खून पिलाया गया। ये संस्कृति वापपंथ की है। हालांकि उनकी इस टिप्पणी को वामपंथी नेता विवेक श्रीवास्तव ने झूठा बताया। उन्होंने कहा कि ये कहानियां हैं। लेफ्ट इन राज्यों में चुनाव लड़ती है और जीतती है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। राज्य की सत्ता पर काबिज टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच लगातार टकरार की खबरें आ रही हैं। गुरुवार को भी राज्य के उत्तर 24 परगना जिले में भाजपा का कार्यालय आग में जलकर खाक हो गया। पार्टी के नेताओं ने इसके लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है। हालांकि, राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों से इनकार किया है। बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र के तहत बबनपुर में स्थित भाजपा के कार्यालय में आग लग गई थी।

एक अन्य मामले में इसी जिले में टीएमसी के एक कार्यकर्ता की कथित तौर पर हत्या कर दी गई। पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आकाश प्रसाद (22) को कई बार चाकू मारा गया और उसके ऊपर देशी बम फेंके गए। पुलिस ने बताया कि घटना बुधवार को देर रात भाटापारा के जगदल थाने के पास पालघाट रोड पर हुई। उन्होंने कहा कि जब उसे अस्पताल ले जाया गया तो वहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ममता की नीतियों का विरोध कीजिए, उनके खिलाफ साजिश मत कीजिए, डिबेट में भाजपा पर बरसे कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम
2 कृषि बिलों के खिलाफ पंजाब में किसानों का प्रदर्शन तेज, रेलवे ने बताया- 41 ट्रेनें रद्द करनी पड़ी
3 झूठी है केंद्र सरकार! AAP का आरोप- 750 ICU बेड देने का था वादा, मिला एक भी नहीं
यह पढ़ा क्या?
X