दिल्लीः 46 वर्षों में सर्वाधिक बारिश, एयरपोर्ट पानी-पानी, सड़कों पर भी सैलाब जैसे हालात, ऑरेंज अलर्ट जारी

दिल्ली में शनिवार सुबह भारी बारिश की वजह से तापमान में गिरावट आ गई। न्यूनतम तापमान इस दौरान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

delhi rains, new delhi, india news
दिल्ली में शनिवार को सड़कों और एयरपोर्ट में बारिश के बाद इस कदर पानी भर गया था। (फोटोः पीटीआई/एएनआई)

देश की राजधानी दिल्ली में शनिवार (11 सितंबर, 2021) सुबह हुई बारिश ने शहर के पूरे यातायात को बुरी तरह प्रभावित किया। एयरपोर्ट के रनवे से लेकर अंदर वाला हिस्सा तक पानी-पानी नजर आया, जबकि जलमग्न सड़कों पर भी सैलाब जैसे हालात दिखे। इस बीच, लोगों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा

दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट (डीआईएएल) ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “असुविधा के लिए हम क्षमाप्रार्थी हैं। भारी बारिश की वजह से कुछ समय के लिए फोरकोर्ट में पानी भर गया था। हमारी टीम को फौरन इस समस्या से निपटने में लगा दिया गया था, जिसके बाद दिक्कत हल कर दी गई थी।” इसी बीच, एक एयरपोर्ट अफसर ने बताया कि चार घरेलू और एक अंतर्राष्ट्रीय उड़ान को डायवर्ट किया गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, इस साल मॉनसून के अत्यधिक असामान्य मौसम में दिल्ली में अभी तक 1,100 मिलीमीटर बारिश हुई जो 46 वर्षां में सबसे अधिक तथा पिछले साल दर्ज की गयी बारिश से लगभग दोगुनी है। ये आंकड़ें बदल सकते हैं क्योंकि शहर में दिन में और बारिश का अनुमान है।

आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘सफदरजंग वेधशाला ने 1975 के मॉनसून के मौसम में 1,150 मिलीमीटर बारिश दर्ज की थी। इस साल बारिश पहले ही 1,100 के आंकड़ें को पार कर गयी है और मॉनसून का मौसम अभी खत्म नहीं हुआ है।’’ आईएमडी के अनुसार, सामान्य तौर पर दिल्ली में मॉनसून के मौसम के दौरान 648.9 मिमी बारिश दर्ज की जाती है। मॉनसून का मौसम शुरू होने पर एक जून से 11 सितंबर तक शहर में सामान्य तौर पर 590.2 मिमी बारिश होती है। मॉनसून 25 सितंबर तक दिल्ली से चला जाता है।

अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘अगले दो दिनों में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। 17-18 सितंबर के आसपास बारिश आने का अनुमान है।’’ साल 2003 में राष्ट्रीय राजधानी में 1,050 मिमी बारिश हुई थी। दिल्ली में 2011, 2012, 2013, 2014 और 2015 में मानसून के मौसम के दौरान क्रमश: 636 मिमी, 544 मिमी, 876 मिमी, 370.8 मिमी और 505.5 मिमी बारिश हुई।

आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, 2016 में 524.7 मिमी, 2017 में 641.3 मिमी, 2018 में 762.6 मिमी, 2019 में 404.3 मिमी और 2020 में 576.5 मिमी बारिश दर्ज की गयी। दिल्ली के लिए सितंबर में प्रचुर मात्रा में बारिश हुई। अभी तक इस महीने में 343.6 मिमी बारिश दर्ज की गयी जो कम से कम 12 वर्षों में सबसे अधिक है।

इस साल सितंबर में हुई बारिश पिछले साल की तुलना में सबसे कम रही। पिछले साल सितंबर में शहर में 20.9 मिमी बारिश हुई थी। दिल्ली में इस महीने की शुरुआत में लगातार दो दिन 100 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गयी। एक सितंबर को 112.1 मिमी और दो सितंबर को 117.7 मिमी बारिश दर्ज की गयी। शनिवार को शहर में 94.7 मिमी बारिश दर्ज की गयी।

दिल्ली में मॉनसून के 19 साल में सबसे देर से 13 जुलाई को दस्तक देने के बावजूद राजधानी में उस महीने 16 दिन बारिश दर्ज की गयी थी जो पिछले चार वर्षों में सबसे अधिक है। दिल्ली में बारिश के दिनों में 507.1 मिमी बारिश हुई जो औसत से तकरीबन 141 प्रतिशत अधिक है। जुलाई 2003 के बाद से यह इस महीने में हुई सबसे अधिक बारिश है।

शहर में अगस्त में महज 10 दिन बारिश हुई थी जो सात वर्षों में सबसे कम है और कुल मिलाकर 214.5 मिमी. बारिश हुई जो 247 मिमी की औसत बारिश से कम है।

बता दें कि दिल्ली में शनिवार सुबह भारी बारिश की वजह से तापमान में गिरावट आ गई। न्यूनतम तापमान इस दौरान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सफदरजंग वेधशाला की मानें तो न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि सापेक्ष आर्द्रता सुबह साढ़े आठ बजे 100 प्रतिशत दर्ज की गई।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट