ताज़ा खबर
 

जवाब मांगा ऑक्सीजन पर तो बीजेपी प्रवक्ता करने लगे पीएम की मीटिंग की बात, बोले एंकर- ऐसा क्या प्रोटोकॉल था, क्या चीन से लड़ाई की बात चल रही थी

मालूम हो कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोविड की स्थिति पर चर्चा कर रहे थे तो दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा चर्चा का टीवी पर प्रसारण करवाया गया था।

PM Narendra Modi, Coronavirusकोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पीएम मोदी लगातार कर रहे हैं बैठक। (फोटो- पीटीआई)

न्यूज 24 पर डिबेट के दौरान बीजेपी प्रवक्ता कहने लगे कि मोदी सरकार कोरोना से जंग में दिन रात काम कर रही है। एंकर ने टोकते हुए कहा कि दिन रात तो मुझे चुनाव में काम होते दिखा? प्रवक्ता कहने लगे कि भारत सरकार सभी राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है। इस पर एंकर कहने लगे कि विदेश में वैक्सीन भेजी गई और कहा कि हम दुनिया को बचा रहे हैं। प्रवक्ता कहने लगे कि पीएम मीटिंग कर रहे हैं। कई बार मीटिंग की बात मीडिया में आ गई। एंकर कहने लगे कि क्या चीन के साथ युद्ध पर बात चल रही थी जो प्रोटोकॉल टूट गया?

मालूम हो कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोविड की स्थिति पर चर्चा कर रहे थे तो दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा चर्चा का टीवी पर प्रसारण करवाया गया था। जिस पर मीटिंग के दौरान पीएम मोदी ने आपत्ति जताई थी। मीटिंग में सीएम केजरीवाल ने कहा, “मेरा मानना ​​है कि अगर कोविड के खिलाफ कोई राष्ट्रीय योजना है, तो केंद्र और सभी राज्य सरकारें मिलकर उस दिशा में काम कर सकती हैं। हमारी दिवंगत आत्माएं …,” इसके बाद प्रधानमंत्री ने कड़े शब्दों में कहा, “यह क्या हो रहा है … यह हमारी परंपरा, हमारे प्रोटोकॉल के खिलाफ है … कुछ मुख्यमंत्री इन-हाउस मीटिंग का सीधा प्रसारण दिखा रहे हैं।”

मोदी ने कहा, “यह उचित नहीं है, हमें हमेशा संयम रखना चाहिए।” इस पर केजरीवाल ने जवाब दिया: “ठीक है सर, हम भविष्य में सावधान रहेंगे।” केजरीवाल ने कहा, “अगर मेरी ओर से कोई गलती हुई है, या मैंने कुछ भी कठोर कहा है या अगर मेरे आचरण में कुछ भी गलत है, तो मैं माफी मांगता हूं, हम हमें दिए गए निर्देशों का पालन करेंगे।”

केंद्र सरकार के सूत्रों ने कहा कि बातचीत को टेलीविज़न पर दिखाने का मतलब नहीं था। सीएम केजरीवाल ने ऐसा करके ठीक नहीं किया। केजरीवाल का पूरा भाषण समाधान के लिए नहीं राजनीति करने और जिम्मेदारी से बचने के लिए था।

हालांकि मुख्यमंत्री कार्यालय ने बाद में एक बयान दिया: “आज, मुख्यमंत्री के संबोधन को लाइव साझा किया गया क्योंकि केंद्र सरकार की ओर से कभी कोई निर्देश, लिखित या मौखिक नहीं आया है कि उक्त बातचीत को लाइव साझा नहीं किया जा सकता है।”

”कई बार इसे साझा किया जा चुका है। इसी तरह की बातचीत के अवसर जहां सार्वजनिक महत्व के मामले जिनके बारे में कोई गोपनीय जानकारी नहीं थी, को लाइव साझा किया गया था। हालांकि, अगर कोई असुविधा हुई तो हमें इस बात का बहुत अफसोस है।”

Next Stories
1 कोरोना मरीजों की मौतों पर बीजेपी प्रवक्ता के जवाब पर बिफऱे एंकर, बोले- दिल्ली सरकार गलत तो क्यों नहीं करते केस दर्ज
2 जब बोले थे नरेंद्र मोदी- संकट में नेतृत्व दिशाहीन, असहाय हो, तब संकट बहुत गहरा जाता है
3 आप का डर सबसे बड़ा वायरस और हिम्मत सबसे बड़ी वैक्सीन है- बोले India TV के रजत शर्मा; लोगों ने कर दिया ट्रोल
यह पढ़ा क्या?
X