ताज़ा खबर
 

मास्क न लगाने वालों पर जुर्मानाः एंकर का तंज- आजादी के 73 साल बाद भी लोगों को नहीं मिल रहा इलाज, किससे वसूलें पैसा?

सिर्फ 24 घंटे के अंदर देशभर से 2.5 लाख से ज्यादा मामले आ रहे हैं। इसी बीच अलग-अलग जगहों पर मास्क नहीं पहनने को लेकर लोगों से जुर्माना भी वसूला जा रहा है। उत्तरप्रदेश में मास्क नहीं पहनने पर 1000 रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

corona, mask, fineन्यूज 24 के एंकर संदीप चौधरी ने टीवी डिबेट में कहा कि लोगों से मास्क के लिए जुर्माना वसूला जा रहा है लेकिन ऑक्सीजन और दवाइयों के लिए मरीजों और उनके परिजनों को भटकना पड़ रहा है तो इसके लिए कौन जुर्माना भरेगा।(फोटो – पीटीआई)

देशभर में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से फ़ैल रहा है। सिर्फ 24 घंटे के अंदर देशभर से 2.5 लाख से ज्यादा मामले आ रहे हैं। इसी बीच अलग-अलग जगहों पर मास्क नहीं पहनने को लेकर लोगों से जुर्माना भी वसूला जा रहा है। उत्तरप्रदेश में मास्क नहीं पहनने पर 1000 रुपए के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसी मुद्दे पर टीवी डिबेट के दौरान एंकर ने सरकार के द्वारा जुर्माना वसूले जाने के फैसले पर तंज कसते हुए कहा कि आज आजादी के 73 साल बाद भी लोगों को इलाज नहीं मिल रहा है। इसके लिए किससे पैसा वसूला जाए।

न्यूज 24 पर आयोजित डिबेट शो में एंकर संदीप चौधरी ने कहा कि जिंदगी जीने के मूल अधिकार में डॉक्टरी सहायता एक संवैधानिक हक़ है। लेकिन क्या इस हक़ का इस्तेमाल हो रहा है। साथ ही एंकर ने कहा कि आज मास्क ना पहनने पर जुर्माना लगता है, और यह लगना भी चाहिए। क्योंकि दूसरों की लापरवाही की वजह से बाकी लोगों संक्रमित क्यों हों। इसलिए जुर्माना लगना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि कानून समाज के हित के लिए बनते हैं।

 

आगे एंकर संदीप चौधरी ने कहा कि अगर दवाई ना मिले, ऑक्सीजन ना मिले, टेस्टिंग ना हो, वेंटिलेटर ना मिले, गाइडलाइन की धज्जियां उड़ रही हो तो क्या इस बात पर जुर्माना नहीं लगना चाहिए। ये हमारे मूल अधिकार हैं। लेकिन व्यवस्था पर जुर्माना कौन लगाएगा या व्यवस्था सिर्फ जुर्माना लगाने के लिए बनी है। वो हम पर जुर्माना लगाते रहें, हम टैक्स भी भरते रहे। आगे संदीप चौधरी ने कहा कि अगले साल हम आजादी के 75 साल मनाने वाले हैं लेकिन हम आजतक ठीक ढंग से स्वास्थ्य सुविधा नहीं मुहैया करवा पाए।

इसके अलावा संदीप चौधरी ने कहा कि आजादी के इतने साल होने पर भी ठीक ढंग से अस्पताल नहीं बना पाए। इसके लिए किससे जुर्माना वसूला जाए। सरकार यह दावा कर रही है कि उसने एक साल में स्वास्थ्य सेवाएं अच्छे किए हैं तो वह लोगों को क्यों नहीं दिख रही है। लोगों को ऑक्सीजन और दवाइयों के लिए भटकना पड़ रहा है तो इसके लिए कौन जुर्माना भरेगा। यह किसकी जिम्मेदारी है। साथ ही संदीप चौधरी ने कहा कि आगे यह स्थिति और भयावह होती जा रही है, केसों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। लेकिन तर्क यह दिया जाता है कि 130 करोड़ का देश है तो क्या किया जा सकता है। 

 

बता दें कि भारत में पिछले 24 घंटे में COVID19 के 2,73,810 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,50,61,919 हुई। 1,619 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,78,769 हो गई है। यह जानकारी सोमवार सुबह नौ बजे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई। साथ ही बताया गया कि देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 19,29,329 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,29,53,821 है।

Next Stories
1 बीजेपी ने राहुल पर कसा तंज, कांग्रेस का पलटवार- ये मखौल नहीं, लोग मना रहे मातम और सरकार टीका उत्सव
2 एंकर ने किसानों से आंदोलन खत्म करने को कहा, अकाली नेता का तंज- कोरोना का ख्याल कर सरकार रद्द करे कानून
3 बीजेपी की दलीलों पर एंकर का तंज- राहुल ने वैक्सीन मंगाने के लिए कहा तो मंत्री बोले कमीशन खाना चाहते हैं, अब क्या?
यह पढ़ा क्या?
X