लागत बढ़ रही, MSP मिल नहीं रही, बताएं वो कौन सी गणित है जिससे किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी- एंकर का सवाल; किसान मोर्चा के पदाधिकारी ने दिया ये जवाब

शनिवार को किसान संगठनों ने केएमपी एक्सप्रेसवे जाम करने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने 24 घंटे के लिए केएमपी एक्सप्रेसवे जाम करने का निर्णय किया है।

Farmers-Protest, rakesh tikait, tv debateटीवी डिबेट में जब एंकर ने किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर भाजपा किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष से सवाल पूछा तो वे उलटे एंकर को ही सरकार के पक्ष में शो करने की नसीहत देने लगे।(फोटो – पीटीआई)

केंद्र सरकार के तीनों कृषि क़ानूनों के खिलाफ दिल्ली से सटे सीमाओं पर किसानों का आंदोलन पिछले 4 महीने से भी अधिक समय से चल रहा है । किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध जारी है। इसी मुद्दे पर एक टीवी डिबेट के दौरान जब एंकर ने भाजपा किसान मोर्चा के पदाधिकारी से सवाल पूछा कि फसलों की लागत बढ़ रही है, MSP मिल नहीं रही है तो बताएं किसानों की आय कैसे दोगुनी हो जाएगी। इसपर भाजपा किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष गोल मटोल जवाब देने लगे।

दरअसल न्यूज 24 पर आयोजित एक टीवी डिबेट शो में एंकर संदीप चौधरी ने भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष से सवाल पूछते हुए कहा कि अधिकांश राज्यों में किसानों को एमएसपी से भी काफी कम मूल्य मिलता है। लागत बढ़ रही है, न्यूनतम समर्थन मूल्य आधे में मिल रहा है लेकिन फिर भी आप कह रहे हैं कि किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। 

इसपर जवाब देते भाजपा किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा ने टीवी एंकर संदीप चौधरी को कहा कि क्या आप कोई ऐसा शो करेंगे जिसमें आप सरकार को बताएंगे कि किसानों को कैसे फायदा पहुंचाना चाहिए, कैसे किसानों की आय दोगुनी होगी और सरकार का भी राजस्व बढ़ेगा। प्रकाश शर्मा के इतना कहते ही एंकर संदीप चौधरी कहने लगे कि मेरा काम सवाल पूछना है, आपने नीति आयोग जैसे हजार थिंक टैंक बनाए हैं वो किस काम के लिए हैं?

आगे संदीप चौधरी ने कहा कि मैं पत्रकार हूं, सरकार के लिए ताली बजाने के लिए नहीं बैठा हूं। लोग सरकार को इसलिए चुनते हैं कि वो अच्छे तरीके और अच्छी नीयत के साथ योजनाएं लेकर आएगी। इसलिए मैं किसानों के लिए सवाल उठाता था, उठाता रहा हूं और उठाता रहूंगा।  

 

बता दें कि शनिवार को किसान संगठनों ने केएमपी एक्सप्रेसवे जाम करने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने 24 घंटे के लिए केएमपी एक्सप्रेसवे जाम करने का निर्णय किया है। इसके अलावा किसान संगठनों ने जलियांवाला बाग हत्याकांड की बरसी पर शहीदों को सम्मान में कार्यक्रम करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा 14 अप्रैल को संविधान बचाओ दिवस के रूप में किसान बहुजन एकता दिवस मनाने का निर्णय किया गया है।

Next Stories
1 आंदोलन से छिटकने लगे किसान? पलवल के अन्नदाता बोले- अब तक दिया SKM को समर्थन, पर ये कटाई का पीक सीजन है…
2 वाजे जेल चला गया, पर परमबीर क्यों NIA का दामाद बना हुआ है?- पूछने लगे Shivsena नेता, BJP नेत्री ने कहा- ये बुजुर्ग नहीं सठिया गए हैं
3 ‘तब हम भी टोपी पहनने पर करेंगे विचार’, ओवैसी के नेता से संबित ने पूछा- आप टीका, तिलक कब लगाएंगे?
यह पढ़ा क्या?
X