ताज़ा खबर
 

‘जब गधा चौकीदारी करेगा, तब घोड़े तो अस्तबल छोड़ेंगे’, पायलट की छुट्टी पर शो में बोले BJP नेता, देखें कांग्रेसी नेता ने क्या दिया जवाब

एक टीवी चैनल पर बहस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा के बीच तीखी बहस हुई। गौरव भाटिया ने राजस्थान में कांग्रेस विधायकों के बागी होने को लेकर कहा कि जब गधा चौकीदारी करेगा, तब घोड़े तो अस्तबल छोड़ेंगे।

BJP , Congress, Pawan Khera, Gourav Bhatiaसचिन पायलट के मुद्दे पर गौरव भाटिया और पवन खेड़ा के बीच तीखी बहस हुई।

राजस्थान में सियासी उठापटक जारी है। कांग्रेस के भीतर घमासान तेज हो गई है। पार्टी के बड़े नेता सचिन पायलट ने बागी तेवर दिखाए हैं तो कांग्रेस ने उनसे उप मुख्यमंत्री का पद छीन लिया है। टीवी चैनलों पर कांग्रेसी खेमे में चल रही लड़ाई को लेकर बहस का सिलसिला जारी है। बीजेपी के नेता जहां कांग्रेस पर निशाना साध रहे हैं। वहीं कांग्रेस के नेता पार्टी का पक्ष रखते नजर आ रहे हैं।

इसी कड़ी में एक टीवी चैनल पर बहस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा के बीच तीखी बहस हुई। गौरव भाटिया ने  राजस्थान में कांग्रेस विधायकों के बागी होने को लेकर कहा कि जब गधा चौकीदारी करेगा, तब घोड़े तो अस्तबल छोड़ेंगे। इस पर पवन खेड़ा ने उनपर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी खुद को चौकीदार बताते हैं और ये चौकीदार को गधा बता रहे हैं।

दरअसल, बहस के दौरान एंकर ने बीजेपी प्रवक्ता से पूछा कि क्या आप भी इस मौके पर खेलना चाह रहे हैं। इस पर गौरव भाटिया ने कहा कि, देखिए भारतीय जनता पार्टी भारतीय राजनीति में ऐसी पार्टी है जिसे मौके पर खेलने की जरूरत नहीं है। हम लोग तो विपरीत परिस्थितियों में भी चौके छक्के मारते हैं। हम लोग सौ रन, सेंचुरी बनाते हैं।


इस पर एंकर ने पूछा कि यह स्थिति आपके लिए विपरीत है या अनुकूल है। इस पर उन्होंने कहा कि आज मैं अशोक गहलोत जी को सुन रहा था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं का रवैया आ बैल मुझे मार वाला है। जबकि मैं समझता हूं कि स्थिति ये है कि इनकी पास गाय थी जो दूध देती थी। इनको गाय का दूध नहीं चाहिए। ये प्रयास में लगे हैं कि बैल का दूध निकाल ले। कपिल सिब्बल कहते हैं कि घोड़े अस्तबल से बाहर ना जाएं, मैं कहता हूं कि जब चौकीदारी गधा करेगा तो घोड़े अस्तबल से भागेंगे ही।

इसपर पवन खेड़ा ने जवाब देते हुए कहा,  जो चुनाव से पहले कहते थे मैं भी चौकीदार, आज कहते हैं चौकीदार गधा है। मैं इसपर टिप्पणी नहीं करना चाहता ये इनका आंतरिक मसला है। लेकिन जब चारों तरफ चोर उचक्के घूम रहे हों तो बाड़ाबंदी तो करनी पड़ेगी ना। हम बाड़ाबंदी भी नहीं करें। इसमें भी आपत्ति है इनको। आपको चुना गया है काम करने के लिए, कोरोना से लड़ना था, मध्य प्रदेश में सरकार गिराने में व्यस्त हो गए। फिर कहते हैं हम चौके छक्के लगाते हैं, अरे चौके छक्के देश के लिए लगाइए। सीमाओं की रक्षा नहीं कर पाते क्योंकि आपकी कोई रुचि नहीं है। इनकी प्राथमिकता है जहां जहां भारतीय जनता पार्टी नहीं है वहां वहां ये पहुंच जाएं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारत में COVID-19 के 86% केस 10 सूबों में, 50 प्रतिशत मामले सिर्फ महाराष्ट्र और तमिलनाडु से- स्वास्थ्य मंत्रालय
2 राजस्थानः सचिन पायलट के पास कुछ नहीं, वे महज BJP के हाथ में खेल रहे- डिप्टी CM के खिलाफ ऐक्शन पर बोले CM अशोक गहलोत
3 IRCTC Indian Railways: कोरोना से बचने के लिए रेलवे ने तैयार किए नए कोच, मिलेंगी ये सुविधाएं
ये पढ़ा क्या?
X