ताज़ा खबर
 

नई दिल्लीः केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू एम्स में भर्ती, नाक की होगी सर्जरी

रिजिजू से पहले पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी को यहां भर्ती कराया गया था। सोमवार (11 जून) को तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें एम्स लाया गया था।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू। (फोटोः फेसबुक)

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू गुरुवार (14 जून) को नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हुए। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाक में कुछ दिक्कत आने के कारण उनकी सर्जरी होगी। पेशे से वकील रिजिजू अरुणाचल प्रदेश से बीजेपी सांसद हैं। फिलहाल वह केंद्रीय गृह राज्य मंत्रालय का काम-काज संभालते हैं। मई में इसी साल एम्स में लेप्रोस्कोपिक तकनीक के जरिए उनका पथरी का ऑपरेशन हुआ था। 46 वर्षीय रिरिजू को तब यहां के यूरोलॉजी विभाग में भर्ती कराया गया था। रिजिजू से पहले पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी को यहां भर्ती कराया गया था। सोमवार (11 जून) को तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें एम्स लाया गया था।

अटल जी को यूरीन में इन्फेक्शन हुआ था, जिसमें सुधार आ रहा है। पूर्व पीएम की तबीयत का हाल जानने के लिए पार्टी के कई बड़े नाम उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे थे, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अलावा कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी भी थे। पूर्व पीएम को भूलने की बीमारी भी है, जिसे डिमेंशिया कहा जाता है। वह इसके अलावा साल 2009 से व्हील चेयर पर हैं।

बुधवार (13 जून) शाम डॉक्टरों ने उनका मेडिकल बुलेटिन जारी किया था, जिसमें बताया कि बीते दो दिनों में उनके स्वास्थ्य में सुधार आया है। पूर्व पीएम की किडनी ठीक से काम कर रही है, जबकि ह्दय गति और रक्तचाप भी सामान्य पाया गया। कुल मिलाकर उनकी तबीयत पहले के मुकाबले काफी बेहतर पाई गई।

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में डॉक्टर की खास टीम को बीजेपी के दिग्गज नेता के इलाज के लिए लगाया गया था। सूत्रों के मुताबिक, पूर्व पीएम को इंजेक्टेबल एंटिबायटिक पर रखा गया था। मेडिकल बुलेटिन में गुलेरिया बोले थे कि फिलहाल उनकी (पूर्व पीएम) की हालत सामान्य है। उम्मीद है कि जल्द ही वह पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएंगे, जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App