ताज़ा खबर
 

भारत-चीन सीमा विवाद पर डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से फोन पर की बातचीत, की अहम पेशकश

विदेश मंत्रालय के मुताबिक अमेरिका में आयोजित होने वाले अगले जी7 शिखर सम्मेलन में मोदी को आमंत्रित करते हुए ट्रंप ने भारत सहित अन्य महत्वपूर्ण देशों को इसमें शामिल करने के लिए समूह के दायरे का विस्तार करने की अपनी इच्छा भी व्यक्त की।

Author Translated By Ikram नई दिल्ली | Updated: June 3, 2020 11:19 AM
PM modi and trumpप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार ने मंगलवार (2 जून, 2020) को एक बयान जारी कर कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘भारत-चीन सीमा की स्थिति’ को लेकर चर्चा की। विदेश मंत्रालय ने बताया कि जब ट्रंप ने मोदी को फोन किया तब दोनों नेताओं के बीच भारत-चीन सीमा स्थिति के बिंदु पर भी बात हुई। ट्रंप ने यह भी कहा कि वो विस्तारित जी7 में भारत को शामिल करना चाहेंगे। मंत्रालय के मुताबिक अमेरिका में आयोजित होने वाले अगले जी7 शिखर सम्मेलन में मोदी को आमंत्रित करते हुए ट्रंप ने भारत सहित अन्य महत्वपूर्ण देशों को इसमें शामिल करने के लिए समूह के दायरे का विस्तार करने की अपनी इच्छा भी व्यक्त की।

पिछले सप्ताह डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया था उन्होंने भारत-चीन सीमा विवाद पर मोदी से फोन पर बात की थी। लेकिन नई दिल्ली के सूत्रों ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच हाल में कोई संपर्क नहीं हुआ। ट्रंप ने इससे पहले एक ट्वीट में एलएलसी की स्थिति को ‘उग्र सीमा विवाद’ बताया था। हालांकि एलएसी पर तनाव की पृष्ठभूमि पर पहली बार दोनों नेताओं की मंगलवार को बातचीत हुई। इससे पहले हफ्ते अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच फोन पर बातचीत हुई।

Uttar Pradesh, Uttarakhand Coronavirus LIVE Updates

G7 विस्तार प्रस्ताव पर वार्ता का उल्लेख करते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने रचनात्मक और दूरदर्शी दृष्टिकोण के लिए राष्ट्रपति ट्रंप की सराहना की। तथ्य यह है कि इस तरह का एक विस्तारित मंच कोविड के बाद दुनिया की उभरती हुई वास्तविकताओं को ध्यान में रखते हुए होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रस्तावित शिखर सम्मेलन की सफलता सुनिश्चित करने के लिए भारत अमेरिका और अन्य देशों के साथ काम करके खुश होगा।

मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अमेरिका में चल रही नागरिक अंशाति के बारे में चिंता व्यक्त की और स्थिति के शीघ्र समाधान के लिए अपनी शुभकामनाएं दीं। विदेश मंत्रालय के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच अन्य सामयिक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान हुआ। जैसे कि दो देशों में COVID-19 स्थिति, भारत-चीन सीमा पर स्थिति और विश्व स्वास्थ्य संगठन में सुधार की आवश्यकता।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 US अशांतः ‘अहम के मद में डोनाल्ड ट्रंप’, जो बाइडेन बोले- प्रदर्शनकारियों पर जब फ्लैश ग्रेनेड फेंके जा रहे थे, तब राष्ट्रपति फोटो खिंचाने में मशगूल थे
2 सीमा विवाद के बीच चीन की नई चाल, पीओके में 1,124 मेगावाट क्षमता की बिजली परियोजना लगाएगा
3 ह्यूस्‍टन पुलिस चीफ ने टीवी पर कहा- राष्‍ट्रपति ट्रंप कुछ अच्‍छा नहीं कर सकते तो कम से कम मुंह बंद रखें