ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: घर-घर जाकर पार्टी के लिए चंदा मांगेंगे अरविंद केजरीवाल, फीडबैक भी लेंगे

दिल्लीवासियों से मिलने के वक्त केजरीवाल न केवल योजनाओं के बारे में सलाह-मशविरा करेंगे, बल्कि वह आम जनता से यह भी जानना चाहेंगे कि उन्हें सरकार से किस तरह की मदद चाहिए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल। (फोटोः )

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आगामी दिनों में राजधानीवासियों के घर-घर जाकर आम आदमी पार्टी (आप) के लिए चंदा जुटाएंगे। सीएम उस दौरान व्यक्तिगत रूप से लोगों से पार्टी के काम-काज को लेकर फीडबैक भी लेंगे। जनता से केजरीवाल तब जानेंगे कि साल 2015 से अब तक उनकी सरकार के फैसलों, नीतियों और कार्यशैली पर वह क्या सोचती है? ‘टीओआई’ की रिपोर्ट के मुताबिक, दुर्गा पूजा के बाद डोर-टू-डोर शुरू होने वाले इस अभियान में सीएम के साथ कुछ कबीना मंत्री भी हिस्सा लेंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि पार्टी ने यह फैसला अगले साल होने वाले लोकसभा के चुनावों को ध्यान में रखकर लिया है।

मंगलवार (16 अक्टूबर) को यह फैसला पार्टी विधायकों और सात अलग-अलग लोकसभा सीटों के प्रभारियों की बैठक के दौरान हुआ। पार्टी सूत्रों की मानें तो, “सीएम ने घर-घर जाकर लोगों से मिलने का फैसला किया है। वह अपनी सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं के बारे में दिल्लीवासियों से राय जानना चाहते हैं, जिसमें डोर स्टेप डिलीवरी योजना भी शामिल है।”

दिल्लीवासियों से मिलने के वक्त केजरीवाल न केवल योजनाओं के बारे में सलाह-मशविरा करेंगे, बल्कि वह आम जनता से यह भी जानना चाहेंगे कि उन्हें सरकार से किस तरह की मदद चाहिए। राजनीतिक विशेषज्ञों के मुताबिक, 2019 के आम चुनाव के पहले केजरीवाल के इस फैसले से उनकी पार्टी के जनाधार को मजबूती मिल सकती है, जिससे वह चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस को कड़ी टक्कर दे सकेंगे।

आप मान कर चल रही है कि अगर वह लोगों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर चंदे की अपील करेगी, तो यह तरीका अधिक प्रभावशाली साबित होगा। दिल्ली में सातों लोकसभा सीटों पर आप अपने प्रभारियों की घोषणा कर चुकी है, जिनमें से पांच ने अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों से मेल-मिलाप शुरू भी कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App