ताज़ा खबर
 

अमित शाह ने बताया, बीजेपी ने कर्नाटक में क्यों पेश किया था सरकार बनाने का दावा

सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष नई दिल्ली में थे। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, "क्या कांग्रेस सीटें घटने का जश्न मना रही है। कांग्रेस तीन पी- पंजाब, पुदुचेरी और परिवार का जश्न मना रही है। कर्नाटकवासियों ने कांग्रेस के खिलाफ जनादेश दिया है। कांग्रेस के बड़े मंत्री चुनाव हारे। जेडीएस का चुनाव प्रचार भी कांग्रेस के खिलाफ था। फिर भी वह जश्न मना रही है।"

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (फोटोः एएनआई)

“कर्नाटक चुनाव परिणाम में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। राज्य में जनादेश बीजेपी के पक्ष में था। यही कारण है कि पार्टी के वोट प्रतिशत में इजाफा हुआ। नतीजों में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। बीजेपी ने जब दावा किया था, तब कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) का गठबंधन नहीं था।” ये बातें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहीं। सोमवार (21 मई) को वह नई दिल्ली में थे।

कर्नाटक नजीते आने के बाद शाह पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, “क्या कांग्रेस सीटें घटने का जश्न मना रही है? कांग्रेस तीन पी- पंजाब, पुदुचेरी और परिवार का जश्न मना रही है? कर्नाटकवासियों ने कांग्रेस के खिलाफ जनादेश दिया है। कांग्रेस के बड़े मंत्री तक चुनाव हार गए। जेडी(एस) का चुनाव प्रचार भी कांग्रेस के खिलाफ था। फिर भी वह जश्न मना रही है।”

बकौल बीजेपी अध्यक्ष, “कर्नाटक में जनता नहीं जश्न मना रही है, बल्कि कांग्रेस और जेडी(एस) जश्न मना रही हैं। वे बताएं आखिर किस बात पर जश्न मना रही हैं? क्या वे (कांग्रेसी) अपनी सीटें घटने का जश्न मना रहे हैं? कांग्रेस ने हार में से जीत निकालने का नया फॉर्म्यूला बनाया। वह हार में भी जीत खोज रही है।” विस चुनाव के दौरान बीजेपी पर लगने वाले आरोपों पर सफाई देते हुए वह बोले, “इस चुनाव में बीजेपी ने किसी प्रकार के खरीद-फरोख्त की कोशिश नहीं की। न ही हमारी पार्टी हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल थी।”

शाह ने आगे बताया, “14 राज्यों में हार बड़ी या नौ उपचुनाव में हार? नौ में बीजेपी हारी तो उन्होंने शोर मचाया, मगर 14 में वे खुद हारे तो एक शब्द नहीं बोले।” बीजेपी अध्यक्ष ने आगे दावा किया, “2019 में अब से अधिक बहुमत आएगा। अब कांग्रेस को सुप्रीम कोर्ट और ईवीएम सरीखे मुद्दे पसंद हैं। उम्मीद है वह अब सुप्रीम कोर्ट के मसले पर सवाल नहीं उठाएगी।”

शाह ने आगे कहा, “गोवा और मणिपुर में कांग्रेस बड़ी पार्टी थी, लेकिन उसने दावा नहीं पेश किया। पार्टी सोच विचार में लगी थी। ऐसे में हमने दावा पेश किया और राज्यपाल ने हमें सरकार बनाने का न्योता दिया था। अगर कर्नाटक में विधायकों को बंधक न बनाया जाता, तो वहां सरकार हमारी होती।” उन्होंने इसी के साथ कहा कि राज्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता शानदार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App