भारत को मिले नए वायुसेना प्रमुख, आरके भदौरिया की जगह लेंगे एयर मार्शल वीआर चौधरी, पूर्वी लद्दाख में निभा चुके हैं बड़ी जिम्मेदारी

मंत्रालय ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, ”सरकार ने फिलहाल वायुसेना उप प्रमुख के तौर पर सेवारत एयर मार्शल वी आर चौधरी को अगला वायुसेना प्रमुख नियुक्त करने का निर्णय लिया है। वह 30 सितंबर को एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के सेवानिवृत होने के बाद पदभार संभालेंगे। ”

airforce, IAF
एयर मार्शल वी आर चौधरी को नया वायुसेना प्रमुख नियुक्त किया गया है। (फाइल फोटो)।

एयर मार्शल वी आर चौधरी को नया वायुसेना प्रमुख नियुक्त किया गया है। वह 30 सितंबर को निवर्तमान वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया की सेवानिवृत्ति के बाद पदभार संभालेंगे। एयर चीफ मार्शल भदौरिया 30 सितंबर, 2019 को शीर्ष पद पर नियुक्ति के ठीक दो साल बाद सेवानिवृत्त होंगे। रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

एयर मार्शल चौधरी फिलहाल वायुसेना उप प्रमुख हैं। मंत्रालय ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, ”सरकार ने फिलहाल वायुसेना उप प्रमुख के तौर पर सेवारत एयर मार्शल वी आर चौधरी को अगला वायुसेना प्रमुख नियुक्त करने का निर्णय लिया है। वह 30 सितंबर को एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया के सेवानिवृत होने के बाद पदभार संभालेंगे। ”

एयर मार्शल चौधरी 29 दिसंबर 1982 को भारतीय वायुसेना की युद्धक शाखा में शामिल हुए थे। सरकार ने एक बयान में कहा कि एयर मार्शल चौधरी ने विभिन्न स्तरों पर विभिन्न कमांड, स्टाफ और निर्देशात्मक पदों पर सेवाएं दी हैं। उनकी सेवा के दौरान, उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक और वायु सेना पदक से अलंकृत किया गया है।

एयर मार्शल चौधरी को 3,800 घंटे से अधिक का उड़ान का अनुभव है और वे मिग-29 विमानों के विशेषज्ञ रहे हैं। उन्होंने पश्चिमी वायु कमान के प्रमुख के रूप में भी काम किया है।

पश्चिमी वायु कमान के चीफ के तौर पर एयर मार्शल विवेक चौधरी की पोस्टिंग ऐसे समय पर हुई थी जब पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच सीमा पर काफी विवाद बढ़ गया था। साथ ही पाकिस्तान लगातार बॉर्डर पर अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा था।

एयर मार्शल विवेक राम चौधरी को इस साल जून में एयर मार्शल हरजीत सिंह अरोड़ा के स्थान पर भारतीय वायु सेना का उप प्रमुख नियुक्त किया गया था। इससे पहले उन्होंने सेना के पश्चिमी वायु कमान के कमांडर-इन-चीफ के रूप में कार्य किया, जो संवेदनशील लद्दाख क्षेत्र के साथ-साथ उत्तर भारत के विभिन्न अन्य हिस्सों में देश के वायु क्षेत्र की सुरक्षा की देखभाल करता है।

38 वर्षों के विशिष्ट करियर में अधिकारी ने भारतीय वायुसेना की सूची में विभिन्न प्रकार के लड़ाकू और प्रशिक्षक विमान उड़ाए हैं। उन्हें मिग-21, मिग-23 एमएफ, मिग 29 और सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान उड़ाने का अनुभव है। एयर मार्शल चौधरी ने कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। वह एक फ्रंटलाइन फाइटर स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर थे और उन्होंने फ्रंटलाइन फाइटर बेस की भी कमान संभाली थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट