ताज़ा खबर
 

Video: मुस्लिम पैनलिस्ट ने कश्मीरी पंडित से पूछा- आप डर क्यों रहें हैं, जवाब मिला- आप लोगों से कश्मीर में भी डर लगता है

बहस के दौरान इफरा खान ने 2004 में मारे गए मुस्लिमों की और कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के मौत के आंकड़ों की तुलना कर रही थी। इस पर बीजेपी प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने कहा कि कश्मीरी पंडितों की मौत को लेकर हिंदू ,मुस्लिम, सिख की मौत से इस तरह नहीं जोड़ा जा सकता है।

Kashmiri Pandit, TV Debate,सुशील पंडित और मुस्लिम पैनलिस्ट के बीच तीखी बहस हुई। (फोटो-सोशल मीडिया)

कश्मीरी पंडितों को कश्मीर में फिर से बसाने के मुद्दें को लेकर एक टीवी चैनल पर बहस के दौरान कश्मीरी पंडित सुशील पंडित और मुस्लिम इफरा खान के बीच तीखी बहस हुई। इफरा खान ने सवाल करते हुए पूछा कि आप डर क्यों लगता है। इस पर सुशील पंडित ने कहा कि आप लोगों से कश्मीर में भी डर लगता है और यहां भी डर लग रहा है।

दरअसल, बहस के दौरान इफरा खान  ने 2004 में मारे गए मुस्लिमों की और कश्मीर में कश्मीरी पंडितों के मौत के आंकड़ों की तुलना कर रही थी। इस पर बीजेपी प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने कहा कि कश्मीरी पंडितों की मौत को लेकर हिंदू ,मुस्लिम, सिख की मौत से इस तरह नहीं जोड़ा जा सकता है। इस बीच एक दर्शक ने कहा कि क्या कश्मीरी पंडितों ने कभी किसी को मारा है, हम लोग भी आतंकवादी बन सकते थे लेकिन हमने ऐसा नहीं किया। आप लोगों ने मिलिटैंसी को अपनाया हमने ऐसा नहीं किया।

इस सवाल के जवाब के दौरान इफरा खान जवाब दे रही थी जिस पर सुशील पंडित बीच में बोल पड़े। इस पर इफरा खान ने कहा कि आप सुनते क्यों नहीं आप लोगों को डर लगता है। इस पर सुशील पंडित ने कहा कि हम कश्मीर में भी आप से डरते थे और  यहां भी आप से डरते हैं।  सुशील पंडित ने कहा कि जिसने भी हथियार उठाया वह मारा जाएगा। इस पर इरफा ने कहा कि सुशील पंडित ने जो बात कही इससे इंसाफ नहीं होता है।आप बोलने नहीं दे रहे हैं। आप लोग मुझे सुनते क्यों नहीं है। इसके बाद दोनों के बीच तीखी बहस हुई जिसके बाद एंकर के बीच बचाव के बाद दोनों को चुप कराया गया।

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई
Next Stories
1 बिहार: शराब की बोतलें के साथ हजारों आधार कार्ड मिले, RJD के पूर्व एमएलसी का आधार कार्ड भी शामिल, जांच में जुटी पुलिस
2 भाजपा ने गुजरात से नरहरि अमीन को तीसरे उम्मीदवार के रूप में उतार कर राज्य सभा चुनाव को बनाया रोमांचक, जानें क्या कहते हैं आंकड़े
3 पीएम नरेंद्र मोदी के सुधारों पर ब्यूरोक्रेसी ने लगाया ब्रेक, नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने अपनी किताब में बताया पूरा विवरण
आज का राशिफल
X