ताज़ा खबर
 

यूएन मिशन में पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ के लीडर रहे भारत के पूर्व सेनाध्यक्ष ने कहा- उनसे सावधान रहें

लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा मंगलवार (29 नवंबर) को पाकिस्तानी आर्मी चीफ का पद संभालेंगे।
भारतीय सेना के पूर्व चीफ जरनल(रिटा) बिक्रम सिंह। (File Photo)

लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा को पाकिस्तान आर्मी का नया चीफ बनाया गया है। भारतीय सेना के पूर्व चीफ बिक्रम सिंह ने कहा कि पाकिस्तान ने नए आर्मी चीफ ले. जनरल बाजवा से सावधान रहने की जरूरत है। पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ ले. जनरल बाजवा ने भारतीय सेना के पूर्व चीफ जनरल(रिटा) सिंह के नेतृत्व में यूएन शांति मिशन में कांगो में काम किया है। सिंह ने वहां एक डिवीजन कमांडर के तौर पर सेवा दी थी, वहीं बाजवा ब्रिगेड कामंडर थे। जनरल(रिटा) सिंह ने ले. जनरल बाजवा को ‘पेशेवर’ बताते हुए कहा कि उनसे भारत को सावधान रहने की जरूरत है। बाजवा ने सिंह के नेतृत्व में कांगो में शानदार काम किया था। लेकिन जब अधिकारी अपने देश वापस पहुंचे तो चीजें बदल गईं ।

जनरल (रिटा) सिंह ने बताया, ‘उनके साथ जब आप यूएन के विश्वशांति मिशन पर काम कर रहे होते हैं तब भौगोलिक सीमाओं को भुलाकर आप खुशमिजाजी का आनंद उठा सकते हैं। लेकिन जब अधिकारी अपने देश वापस लौट जाते हैं तो चीजें बदल जाती हैं। यह इसलिए होता है क्योंकि आपके देश का हित पहले आता है।’ सिंह ने साथ ही कहा कि वेट एंड वॉट करना चाहिए और सावधान रहना चाहिए। सिंह ने उम्मीद जताई है कि वे अपने मुल्क में कट्टटपंथ को भारत से ज्यादा खतरनाक मानते रहेंगे, जैसा वे हमेशा बोलते रहते हैं।

बता दें, लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा मंगलवार (29 नवंबर) को पाकिस्तानी आर्मी चीफ का पद संभालेंगे। ले. जरनल जावेद बाजवा बलूच रेजिमेंट के हैं और फिलहाल रावलपिंडी के जनरल हेडक्वाटर में इंस्पेक्टर जनरल ऑफ ट्रेंनिंग एंड एवेल्यूशन के पद पर काम कर रहे थे। बाजवा को कश्मीर एक्सपर्ट के तौर पर देखा जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कश्मीर बॉर्डर के आस-पास के इलाकों में उनकी काफी बार तैनाती हुई है। उन्होंने 10 कोर का भी नेतृत्व किया है जो नियंत्रण रेखा के क्षेत्रों का जिम्मा संभालती है। मेजर जनरल के तौर पर बाजवा ने सेना की उत्तरी कमान का नेतृत्व भी किया। 10 कोर में लेफ्टिनेंट कर्नल के तौर पर भी सेवा दी है। 10 कोर शियाचिन ग्लेशियर और उत्तरी कश्मीर पर नजर रखने का काम करती थी।

माना जा रहा है कि बाजवा की नियुक्ति से शायद ही भारत को कोई खास फर्क पड़े। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स को मुताबिक, लेफ्टिनेंट जनरल बाजवा अतिवाद को भारत से ज्यादा पाकिस्तान के लिए खतरा मानते हैं। पाकिस्तानी आर्मी के एक सीनियर अधिकारी जो लेफ्टिनेंट जनरल बाजवा के साथ 10 कोर में तैनात थे उन्होंने कहा कि बाजवा चर्चाओं में रहना पसंद नहीं करते और अपने सैनिको के साथ काफी अच्छे से जुड़े हुए हैं।

वीडियो में देखें- पाकिस्तानी सेना ने अपनी तैयारियों की जांच के लिए रात के अंधेरे में किया अभ्यास

वीडियो में देखें- पाकिस्तान की दुल्हन ने की जोधपुर के दूल्हे से शादी; विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने की मदद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.