ताज़ा खबर
 

नीलाम होने लगीं सहारा की 300 कारें और टूवीलर, 6 लाख में बिकी इनोवा

एंबी वैली में मौजूद सहारा ग्रुप के स्‍वामित्‍व वाले वाहनों की बोली आजाद मैदान में स्थित मुंबई पुलिस क्‍लब में आयोजित की गई। इसमें बड़ी संख्‍या में लोगों ने हिस्‍सा लिया। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर नीलामी प्रक्रिया आयोजित की गई है।

वाहनों की नीलामी के दौरान मुंबई पुलिस क्‍लब में जुटे खरीदार। (फोटो सोर्स: गणेश शिरसेकर, इंडियन एक्‍सप्रेस)

एंबी वैली की संपत्तियों की नीलामी आखिरकार शुरू हो गई है। इसके तहत वैली में मौजूद तकरीबन 300 वाहनों को संभावित खरीदारों के समक्ष रखा गया था। नीलामी का आयोजन आजाद मैदान में स्थित मुंबई पुलिस क्‍लब में किया गया। इनमें 166 कारें और 126 दोपहिया वाहन हैं। कुछ वाहनों की मौजूदा स्थिति से खरीदारों को निराशा भी हुई। सबसे पहले कारों को लोगों को सामने पेश किया गया था। ट्रांसपाेर्टर राकेश टाकले दो पिक-अप ट्रक खरीदने के इरादे से बोली में शामिल हुए थे, लेकिन उन्‍हें सिर्फ टोयोटा इनोवा से ही संतोष करना पड़ा। उन्‍होंने इनोवा छह लाख रुपये में खरीदी। सतारा के संकेत शानबाग को उम्‍मीद थी कि वह अपने बच्‍चों के लिए मर्सीडीज बेंज स्प्रिंटर वैन खरीदने में सफल होंगे। उन्‍होंने इसके लिए 20 लाख रुपये तक की बोली लगाई थी। उन्‍होंने बताया कि वैन के लिए बोली लगाने वालों में सिर्फ दो व्‍यक्ति ही थे। ऐसे में बोली अचानक से 21 लाख से 50 लाख और फिर 67 लाख रुपये तक पहुंच गई थी। इस तरह संकेत वैन खरीदने में सफल नहीं हो सके। उन्‍होंने बताया कि इतनी ज्‍यादा कीमत देकर मर्सीडीज बेंज स्प्रिंटर वैन खरीदने का कोई तुक नहीं था।

सुप्रीम कोर्ट ने निवेशकों का पैसा न लौटाने के कारण सुब्रत राय सहारा की संपत्तियों को बेचकर पैसा जुटाने का आदेश दिया था। शीर्ष अदालत ने दिसंबर में एंबी वैली की नीलामी की इजाजत दी थी। इसके लिए बांबे हाई कोर्ट को आधिकारिक तौर पर अधिकृत (ऑफिशियल लिक्विडेटर) किया गया था। नीलामी प्रक्रिया को आठ सप्‍ताह में पूरा करने को कहा गया है। एंबी वैली का कुल मूल्‍य 37,000 करोड़ रुपये आंका गया है। पहले इसकी नीलामी एक साथ ही कराने की योजना थी, लेकिन विशेषज्ञों ने शीर्ष अदालत को बताया कि कोई एक कंपनी, संगठन या व्‍यक्ति अकेले इसे नहीं खरीद सकता है। इसके बाद एंबी वैली को टुकड़ों में बेचने का फैसला किया गया। इसी रणनीति के तहत सबसे पहले एंबी वैली में मौजूद वाहनों की नीलामी प्रक्रिया शुरू की गई है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के कई आदेश के बाद भी सहारा ग्रुप ने निवेशकों के पैसे नहीं लौटाए। इसके बाद अदालत ने कंपनी की स्‍वामित्‍व वाली संपत्तियों की नीलामी करने का फैसला लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App