ताज़ा खबर
 

‘सुबह-सुबह आई पुलिस, बोली खाली कराओ PG, एक भी दिखा तो भुगतना पड़ेगा अंजाम’, DU के आसापास कोचिंग, पीजी पर लगा ताला

पुलिस का दावा है कि वो नोटिस और वीडियो दोनों फर्जी है और छेड़छाड़ कर बनाया गया है। इधर, तीन कोचिंग संस्थानों और एक पीजी के मालिक ने इंडियन एक्सप्रेस ने इस बात की पुष्टि की है कि दिल्ली पुलिस के जवान ने आकर उन्हें 2 जनवरी तक संस्थान बंद रखने को कहा है।

पुलिस का दावा है कि वो नोटिस और वीडियो दोनों फर्जी है और छेड़छाड़ कर बनाया गया है। (Express photo by Amit Mehra)

दिल्ली यूनिवर्सिटी से सटा इलाका मुखर्जी नगर जो कोचिंग हब के रूप में विख्यात हो चुका है, वहां बुधवार (25 दिसंबर) को सभी कोचिंग संस्थानों और रीडिंग रूम्स के शटर गिरे पड़े थे। ऐसा उस नोटिस के बाद हुआ जिसमें कथित तौर पर दिल्ली पुलिस की तरफ से ऐसा करने को कहा गया था। इसके अलावा एक वीडियो में एक पुलिस वाला कथित तौर पर छात्रों से कमरे खाली करने को कहता दिख रहा है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि वो नोटिस और वीडियो दोनों फर्जी है और छेड़छाड़ कर बनाया गया है। इधर, तीन कोचिंग संस्थानों और एक पीजी के मालिक ने इंडियन एक्सप्रेस ने इस बात की पुष्टि की है कि दिल्ली पुलिस के जवान ने आकर उन्हें 2 जनवरी तक संस्थान बंद रखने को कहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दिल्ली पुलिस के कथित नोटिस में मुखर्जी नगर थाने के एसएचओ का नाम छपा है, जिसमें निर्देश देते हुए कहा गया है कि सभी कोचिंग संस्थान और पीजी हॉस्टल के मालिक अपनी सेवाएं 24 दिसंबर से 1 जनवरी तक बंद रखें। नोटिस में ऐसा नहीं करने पर 50,000 रुपये का जुर्माना भरने या संस्थान सील करने की चेतावनी भी दी गई है।

मंगलवार  (24 दिसंबर) की रात से ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो सर्कुलेट हो रहा है, जिसमें दिल्ली पुलिस का एक जवान कथित तौर पर मार्केट में बोलता दिख रहा है। उसे विद्यार्थियों से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि टिकट बुक करो और घर जाओ। 2 जनवरी या उसके बाद ही फिर यहां वापस आना। वीडियो में पुलिसवाले को कथित तौर पर यह भी कहते हुए सुना जा सकता है कि किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी या अशांति मत फैलाओ या किसी तरह के विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा मत लो। वीडियो में यह भी कहा जा रहा है कि पूरे दिल्ली में धारा 144 लगा दिया गया है इसका उल्लंघन करने पर एक FIR तुम्हारे पूरे करियर को बर्बाद कर देगा।

नॉर्थ वेस्ट के डीसीपी विजयंत आर्या ने बुधवार को कहा कि पुलिस की तरफ से न तो वीडियो जारी किया गया है और नही कोई नोटिस। उन्होंने बताया कि ट्विटर को इस तरह का वीडियो और नोटिस हटाने के लिए लिखा गया है। जब उनसे पूछा गया कि वीडियो में मॉडल टाउन एसीपी अजय कुमार भीड़ को संबोधित कर रहे हैं और उनके पीछे मुखर्जी नगर थाने के एसएचओ प्रदीप कुमार दिख रहे हैं तो डीसीपी ने कहा कि अधिकारी छात्रों और स्थानीय लोगों को समझाने गए थे कि अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा कि वीडियो से छेड़छाड़ की गई है।

उधर, भारती कॉन्सेप्ट कोचिंग के संचालक अशोक शुक्ला ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “तीन कांस्टेबलों ने कोचिंग सेंटर पर आकर हमें 2 जनवरी तक कोचिंग बंद करने का निर्देश दिया था। जब हमने कारण पूछा, तो हमें बताया गया कि यह आदेश ऊपर से आया है।” इसी तरह से जीएस वर्ल्ड कोटिंग के स्टाफ ने बताया कि 23 दिसंबर को सुबह 11 बजे पुलिस के चार जवान आए और मौखिक तौर पर कोचिंग बंद कराने का फरमान सुना गए लेकिन कोई लिखित नोटिस नहीं दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Solar Eclipse 2019: एक क्लिक पर जानिए सूर्यग्रहण से जुड़ी सारी जानकारी, कब, कहां शुरू होगा ग्रहण, कब देखें?
2 मुसलमान पाकिस्तान जाएंगे या कब्रिस्तान- मुजफ्फरनगर के बुजुर्ग का यूपी पुलिस पर घर में घुस कर कोहराम मचाने का आरोप
3 हटेंगी असम राइफल्स और सेना की टुकड़ियां
ये पढ़ा क्या?
X