ताज़ा खबर
 

ICAI को CA Exam की क्यों पड़ी है, COVID-19 की चिंता क्यों नहीं?- रवीश कुमार का पोस्ट वायरल

पोस्ट में पत्रकार रवीश कुमार लिखते हैं, 'अहमदाबाद में कर्फ़्यू लगने जा रहा है क्योंकि कोविड-19 का प्रसार नियंत्रित हो सके और यहां है कि परीक्षा हो रही है।'

prime time NDTV journalistपत्रकार रवीश कुमार।

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) द्वारा सीए छात्रों की परीक्षा में देरी के बाद भी कथित तौर पर परीक्षा के पुख्ता इंतजाम ना होने पर एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने संस्था को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि आईसीएआई को सीए की परीक्षा क्यों करानी पड़ रही है, उन्हें कोरोना वायरस महामारी की चिंता क्यों नहीं है। संस्था की वेबसाइट पर इसके नोटिफिकेशन के अनुसार मॉक टेस्ट और इन्फोर्मेशन सिस्टम्स ऑडिट एलिजिबिलिटी टेस्ट (ISA ET) जो 20 नवंबर और 28 नवंबर को होना था उसे किसी कारण रद्द कर दिया गया है। अब नई परीक्षा तारीखों की घोषणा की गई है।

पत्रकार रवीश कुमार 19 नवंबर की अपनी फेसबुक पोस्ट पर इस संबंध में लिखते हैं कि ‘ICAI चारटर्ड अकाउंटेंट की संस्था है। इस संस्था की हाल देखिए कि आठ महीने में CA का इम्तहान ऑनलाइन कराने का बंदोबस्त नहीं कर सकी है। अब इसने परीक्षा का ऐसा कैलेंडर निकाला है जो कोई दिनों तक चलेगा। ऐसा नहीं कि एक घंटे की परीक्षा दी और खत्म।

पोस्ट में कहा गया कि छात्रों को बार बार उसी सेंटर में आना होगा। एक तरफ अहमदाबाद में कर्फ़्यू लगने जा रहा है क्योंकि कोविड-19 का प्रसार नियंत्रित हो सके और यहां है कि परीक्षा हो रही है। छात्रों की बात सही है कि साढ़े चार लाख छात्र अगर परीक्षा के दौरान संक्रमित हो गए तो उनकी परीक्षा और सेहत का क्या होगा? छात्र कोई दिनों से ट्विटर पर लिख रहे हैं मगर किसी को तो ध्यान देना चाहिए।

चैनल पर प्राइटम टाम शो के एंकर रवीश ने गृह मंत्रालय पर भी निशााना साधा। उन्होंने कहा कि कायदे से गृह मंत्रालय को ऐसी परीक्षा की तैयारी की ऑडिट करानी चाहिए। कैसे अनुमति दी गई है? और अगर चार्टर्ड अकाउंटेंट की संस्था ऑनलाइन इम्तहान का इंतजाम नहीं कर सकती तो फिर डिजिटल इंडिया का क्या मतलब रह जाएगा? इसलिए संस्था अपने बेतुके फैसले पर विचार करे और परीक्षा का कैलेंडर आगे बढ़ाए।

उल्लेखनीय है कि अब संस्था ने 17 नवंबर को आधिकारिक जानकारी देते हुए कहा कि सीए परीक्षाओं का आवश्यक सावधानियों एवं जारी किए गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर्स (एसओपी) के अनुसार आयोजन किया जाएगा। संस्थान ने कहा कि जनवरी और फरवरी के साथ-साथ मई 2021 में अलग एग्जाम सायकिल निर्धारित किए गए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मेवालाल चौधरी के इस्तीफे के बाद तेजस्वी का सीएम नीतीश पर तंज- थक चुके हो, सोचने समझने की शक्ति क्षीण हो चुकी
2 जानें क्यों आया लक्ष्मी विलास बैंक पर संकट, करीब 30 महीने में संकट में आने वाला 5वां वित्तीय फर्म
3 केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, सुदर्शन टीवी का शो एक समुदाय को करता है टारगेट, कहा- बिना बदलाव के नहीं हो सकता प्रसारण
यह पढ़ा क्या?
X