पीएम मोदी बोले- कोरोना वैक्सिनेशन में नहीं चला वीआईपी कल्चर

बता दें कि देश में अब तक कोरोना वैक्सीन की 1006234803 डोज लगाई जा चुकी है। इनमें से 71,09,80,686 लोगों को वैक्सीन की एक डोज लगी है वहीं 29,53,02,676 लोगों को टीके की दोनों डोज लग चुकी है।

PM Modi, Narendra Modi
पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स: फाइल/पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 अक्टूबर(शुक्रवार) को सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोविड-19 रोधी टीकों की अब तक दी गई खुराक की संख्या 100 करोड़ के पार पहुंचने की उपलब्धि की सराहना करते हुए शुक्रवार को कहा कि भारत का टीकाकरण अभियान ‘‘विज्ञान-जनित, विज्ञान-संचालित और विज्ञान-आधारित’’ है, साथ ही इसमें कोई ‘‘वीआईपी-संस्कृति’’ भी नहीं है।

उन्होंने कहा कि सभी को साथ लेकर, देश ने ‘‘सबको टीका, मुफ्त टीका’’ अभियान की शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश का केवल एक मंत्र है, कि अगर बीमारी कोई भेदभाव नहीं करती, तो टीकाकरण में भी किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा , ‘‘ इसलिए यह सुनिश्चित किया गया कि किसी भी प्रकार की वीआईपी संस्कृति को अनुमति ना दी जाए।’’

वहीं पीएम मोदी के संबोधन को लेकर यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने सवाल पूछते हुए ट्वीट किया कि आखिर अब क्या हो गया? क्या अपनी विफलताओं के लिए इस्तीफा दे रहे हैं?

बता दें कि देश में अब तक कोरोना वैक्सीन की 1,00,62,34,803 डोज लगाई जा चुकी है। इनमें से 71,09,80,686 लोगों को वैक्सीन की एक डोज लगी है वहीं 29,53,02,676 लोगों को टीके की दोनों डोज लग चुकी है। 100 करोड़ के आंकड़े को पार करने पर पीएम मोदी ने देशवासियों को बधाई दी थी।

पीएम मोदी ने दी थी बधाई: बता दें कि भारत के 100 करोड़ टीकाकरण की उपलब्धि पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके देश की जनता और इस अभियान में लगे डॉक्टरों, नर्सों और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को बधाई दी। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि यह भारत के विज्ञान और लोगों के सहयोग की विजय है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कही थी ये बात: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने अपने एक ट्वीट में इस उपलब्धि को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम नेतृत्व का परिणाम बताया। उन्होंने लिखा, ‘‘बधाई हो भारत! यह दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थ नेतृत्व का प्रतिफल है।’’

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।