ताज़ा खबर
 

एनडीए सहयोगी रामदास अठावले का शिवसेना प्रमुख पर निशाना- 10 बार अयोध्या जाएंगे तो भी नहीं बनेगा राम मंदिर

एनडीए के सहयोगी दल आरपीआई प्रमुख रामदास अठावले ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की अयोध्या यात्रा पर निशाना साधा है। अठावले ने कहा कि यदि वे 10 बार भी अयोध्या चले जाएं लेकिन राम मंदिर नहीं बनेगा।

अठावले ने इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करने को कहा है। (फाइल फोटो)

एनडीए सरकार की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख रामदास अठावले ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की आगामी अयोध्या यात्रा पर तंज कसा है। अठावले ने कहा कि उद्धव एक बार क्या 10 बार भी अयोध्या चले जाएं लेकिन वहां राम मंदिर का निर्माण नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। इससे पहले शिवसेना ने लोकसभा चुनाव में जीत के बाद एक बार फिर से राम मंदिर के निर्माण के पक्ष में आवाज उठाई थी। 5 जून को शिवसेना की मीडिया सेल ने इस बात की जानकारी दी थी कि पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे इस माह के अंत तक अयोध्या जाएंगे।

इसमें कहा गया था कि उद्धव के साथ पार्टी के 18 सांसद भी अयोध्या जा सकते हैं। अयोध्या में इस समय भारी संख्या में साधु संत पहुंच रहे है। वहीं सूत्रों का कहना है कि शिवसेना प्रमुख 17 लोकसभा के पहले संसद सत्र शुरू होने से पहले अयोध्या जा सकते हैं। संसद का सत्र 17 जून से ही शुरू हो रहा है।

उद्धव के 15 से 17 जून के बीच अयोध्या में रुक सकते हैं। ठाकरे के करीबी और पार्टी के मीडिया प्रभारी हर्षल प्रधान ने उद्धव के अयोध्या जाने की पुष्टि की थी। हर्षल ने कहा था कि इस बारे में विस्तृत जानकारी पार्टी की तरफ से जल्द ही जारी की जाएगी। अयोध्या में देश के विभिन्न हिस्सों से पहुंचे साधु संत अयोध्या में मंदिर निर्माण के संबंध में पीएम नरेंद्र मोदी के लिए संकल्प पत्र जारी कर सकते हैं।

उद्धव दूसरी बार जाएंगे अयोध्याः शिवसेना प्रमुख इससे पहले नवंबर 2018 में अयोध्या पहुंचे थे। उद्धव ने उस समय मोदी सरकार से राम मंदिर निर्माण की तारीख जल्द से जल्द घोषित करने की मांग की थी। उद्धव ने कहा था कि वह राम मंदिर निर्माण के लिए लाए जाने अध्यादेश का भी समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा था, ‘हम जानना चाहते हैं कि मंदिर का निर्माण किस दिन से प्रारंभ होगा?’ इससे पहले तमाम मतभेदों को दरकिनार करते हुए शिवसेना और भाजपा ने महाराष्ट्र में मिलकर चुनाव लड़ा था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 एंटी सैटेलाइट के सफल परीक्षण के बाद अब अंतरिक्ष में युद्ध की तैयारी में भी जुटा भारत!
2 सरकार-जुडिशरी में फिर टकराव! जस्टिस कुरैशी को चीफ जस्टिस बनाना चाहता था सुप्रीम कोर्ट का कोलिजियम, मोदी सरकार ने किसी और को बनाया
3 कैबिनेट समिति पर पीएम मोदी को यू-टर्न लिवाने के बाद राजनाथ ने अपने घर पर बुलाई बैठक, अमित शाह को जाना पड़ा