जनता परिवार के विलय पर राजग को ‘सजग’ रहना होगा

पुराने जनता परिवार के विलय की प्रक्रिया के गति पकड़ने के बीच केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र प्रसाद कुशवहा ने आज जोर देते हुए कहा कि राजग को इस वर्ष के अंत में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाने में सावधानी बरतनी होगी। राजग के सहयागी दल राष्ट्रीय लोक समता […]

पुराने जनता परिवार के विलय की प्रक्रिया के गति पकड़ने के बीच केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र प्रसाद कुशवहा ने आज जोर देते हुए कहा कि राजग को इस वर्ष के अंत में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाने में सावधानी बरतनी होगी।

राजग के सहयागी दल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुशवाहा ने पटना में आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, ‘‘यह सर्वविदित है कि पुराने जनता परिवार के विलय की कोशिश कुछ नेताओं की व्यक्तिगत लालच के कारण हो रही हैं लेकिन उनसे मुकाबला करने के लिए राजग को सवाधानी के साथ रणनीति बनाने की जरूरत है।’’

यह पूछने पर कि क्या राजग बिहार विधानसभा चुनाव से पहले किसी को गठबंधन का चेहरा बनाएगा, उन्होंने कहा कि इसका फैसला सही समय पर राजग की बैठक में होगा। इसे लेकर गठबंधन के बीच कोई कठिनाई नहीं आएगी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के संसदीय जीवन के 25 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में हाल में आयोजित अभिंनदन समारोह में केंद्रीय मंत्री वैंकया नायडू द्वारा परोक्ष रूप से सुशील को मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित करने के बारे में पूछने पर कुश्वाहा ने कहा कि यह व्यक्तिगत राय हो सकती है, भाजपा की नहीं।

उन्होंने कहा कि भाजपा के कई नेता, उसके घटक दल लोजपा एवं आरएलएसपी बिहार में मुख्यमंत्री पद को लेकर अलग-अलग विचार और पद के उम्मीदवार को लेकर विभिन्न नामों का उल्लेख पहले कर चुके हैं। अपनी पार्टी आरएलएसपी द्वारा आगामी पांच अप्रैल को पटना में आयोजित की जाने वाली रैली में बिहार सरकार द्वारा बाधा उत्पन्न किए जाने की आशंका व्यक्त करते हुए कुशवाहा ने कहा कि उनकी पार्टी ने रैली में किसी भी अवरोध से बचने के लिए प्रदेश के पुलिस महानिदेशक पी. के. ठाकुर को पत्र लिखा है।

उन्होंने झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के उस कथन कि बिहार के अभ्यर्थी समूह सी और डी की नौकरी पाने के पात्र नहीं हो सकेंगे पर एतराज जताते हुए कहा कि यह देश के संविधान के विरुद्ध है और भाजपा के केंद्रीय नेतत्व को इसको देखना चाहिए।

Next Story
योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रत्याशी समेत अनेक लोगों पर मुकदमा
अपडेट