ताज़ा खबर
 

25 रुपए प्रति व्‍यक्‍ति की मदद दी और 6 साल में खाली पेट्रोल पर टैक्‍स से वसूले 20 लाख करोड़- PM के ऐलान पर बोली कांग्रेस

पात्रा ने पीएम की ओर से की गई घोषणा की सराहना की थी, जिस पर दुबे ने कटाक्ष करते हुए कहा- बहुत भावुक क्षण है। पूरा देश भावविभोर हो गया, पीएम की इस घोषणा से। आपसे उम्मीद क्या थी आप जानते हैं, पर आपने पेट्रोलियम उत्पादों पर टैक्स लगाकर और कर्मचारियों के महंगाई भत्ता कम कर के दो लाख 70 हजार करोड़ रुपए अतिरिक्त हासिल किए। ये पात्रा को जी एक्ट जानना चाहिए, जो कांग्रेस 2013 में लाई थी।

Narendra Modi, BJP, NDA, Gareeb Kalyan Yojana, PM Gareeb Kalyan Yojanaनई दिल्ली में फ्यूल स्टेशन पर गाड़ी में डीजल भरता कर्मचारी। (फाइल फोटोः पीटीआई)

‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के विस्तार पर पीएम नरेंद्र मोदी के ऐलान पर कांग्रेस ने मंगलवार को जमकर निशाना साधा। कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे ने एक टीवी डिबेट के दौरान कहा कि मोदी सरकार ने महज 25 रुपए प्रति व्‍यक्‍ति की मदद दी, जबकि 6 साल में खाली पेट्रोल पर टैक्‍स से 20 लाख करोड़ रुपए वसूल लिए। ये बात उन्होंने पीएम के संबोधन के कुछ देर बाद हिंदी चैनल आज तक पर डिबेट शो के दौरान कहीं। कार्यक्रम में एंकर अंजना ओम कश्यप और उनके अलावा बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा भी थे।

पात्रा ने पीएम की ओर से की गई घोषणा की सराहना की थी, जिस पर दुबे ने कटाक्ष करते हुए कहा- बहुत भावुक क्षण है। पूरा देश भावविभोर हो गया, पीएम की इस घोषणा से। आपसे उम्मीद क्या थी आप जानते हैं, पर आपने पेट्रोलियम उत्पादों पर टैक्स लगाकर और कर्मचारियों के महंगाई भत्ता कम कर के दो लाख 70 हजार करोड़ रुपए अतिरिक्त हासिल किए। ये पात्रा को जी एक्ट जानना चाहिए, जो कांग्रेस 2013 में लाई थी। उसमें 80 करोड़ लोगों को तीन रुपए में चावल और दो रुपए में किलो दिया जा रहा है। पीएम (मोदी) का नया योगदान क्या है? एक व्यक्ति के लिए 15 रुपए चावल में और 10 रुपए गेहूं में। यानी 25 रुपए प्रति व्यक्ति की मदद और भावुक हो गए आप इसमें। ये कितनी शर्मनाक बात है।

कांग्रेसी नेता के मुताबिक, राहुल गांधी जी कह रहे थे कि मजदूरों को कम से कम से कम साढ़े सात हजार रुपए तो दीजिए। मजदूरों को दर दर की ठोकरें खाते देखा है। आपने वह व्यथा नहीं भोगी। किसानों से पूछिए…। पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने के कारण दिक्कत हुई। इकनॉमिक ग्रोथ स्टडी की रिपोर्ट पढ़ लीजिए। वे कह रहे हैं कि 1400 रुपए एकड़ इन 20 दिनों में किसानों का बढ़ गया। मंडी तक ले जाने के लिए एक एकड़ पर 100 लीटर डीजल अतिरिक्त लगेगा उसे। उपहास मत उड़ाएं। वे सक्षम हैं, वे पैदा कर लेंगे। आग्रह है कि आपने जनता की जेब पर जो डाका डाला है, उसे वापस कर दीजिए।

बकौल दुबे, “आपने पेट्रोलियम उत्पादों पर छह साल में 20 लाख करोड़ रुपए का कर लगाकर अर्जित किया। 820 प्रतिशत आपने डीजल पर लिया, जबकि पेट्रोल पर 258 फीसदी पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स पर लिया। वहीं, कांग्रेस की सरकार में 101 लाख 46 हजार करोड़ रुपए का सब्सिडी का बोझ था। धर्मेंद्र प्रधान का 2017 का एक ट्वीट देख लीजिए। उन्होंने इसमें कहा था, “डायनमिक फ्यूल प्राइसिंग पॉलिसी हम लागू करेंगे। लोगों ने पूछा कि इसका क्या फायदा होगा।”

बता दें कि पीएम ने मंगलवार को देश के नाम अपने संबोधन में ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है, जिससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना के विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दिया जाए तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपये हो जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बोलना था चीन पर, बोल गए चना पर, बक़रीद का नाम भी नहीं लिया- असदुद्दीन ओवैसी का नरेंद्र मोदी पर तंज
2 मोदी के बाद ममता सरकार की बड़ी घोषणाएंः 2021 तक बंगाल में गरीबों को मुफ्त राशन; चीन पर कही ये बात
3 कोई ‘Corona Kit’ नहीं की पैक, बस डिब्बे पर कोरोना का छपाया था प्रतीकात्मक फोटो- आयुर्वेद विभाग के नोटिस पर रामदेव की Patanjali की सफाई; लोगों ने यूं दिखाया आईना