ताज़ा खबर
 

Sharad Pawar से बोले रामदास अठावले- NDA में आओ, बड़ा इनाम मिलेगा

Maharashtra Government Formation : अठावले ने कहा कि शरद पवार को भी अपने रुख में बदलाव लाने के बारे में सोचना चाहिए और राजग में शामिल होना चाहिए। उन्हें केंद्र में कोई अच्छा पद मिल सकता है।

बीजेपी की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास अठावले। (Express photo by Janak Rathod)

Maharashtra Government Formation: महाराष्ट्र की राजनीति में नाटकीय मोड़ के लिए शिवसेना को जिम्मेदार ठहराते हुए केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने शनिवार (23 नवंबर) को एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) से एनडीए के खेमे में शामिल होने का अनुरोध किया और संकेत दिया कि ऐसा करने से उन्हें केंद्र में महत्वपूर्ण पद का पुरस्कार मिल सकता है। उन्होंने कहा कि पवार को महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले अपने बागी भतीजे अजित पवार (Ajit Pawar) का भी समर्थन करना चाहिए।

‘NDA में शामिल हों पवार, बड़ा पद मिलेगा’: 30 नवंबर को होने वाले शक्ति परीक्षण से पहले अजित पवार नीत खेमे के समक्ष कठिनाई के बारे में पूछे जाने पर अठावले ने कहा कि शरद पवार को भी अपने रुख में बदलाव लाने के बारे में सोचना चाहिए और NDA में शामिल होना चाहिए। उन्हें केंद्र में कोई अच्छा पद मिल सकता है। महाराष्ट्र आधारित दलित समर्थक पार्टी आरपीआई का नेतृत्व करने वाले अठावले ने यह बात एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा है।

Hindi News Today, 23 November 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

‘पार्टी लाइन के खिलाफ है निर्णय’: बता दें कि इस दौरान एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि अजीत पवार का फैसला पार्टी लाइन के खिलाफ है और अनुशासनहीनता है और उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘महाराष्ट्र के इतिहास में आज एक काला धब्बा था। सबकुछ सुबह जल्दबाजी में किया गया। कहीं कुछ गड़बड़ है। इससे ज्यादा शर्मनाक कुछ नहीं हो सकता।’

Maharashtra Government Formation Live: BJP-NCP ने मिलकर बनाई सरकार, Shiv Sena कोे सबसे बड़ा झटका

ईवीएम के बाद अब नया खेल: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुंबई में वाइबी चव्हाण सेंटर में एनसीपी और शिवसेना की साझा प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि पहले ईवीएम का खेल चल रहा था और अब यह नया खेल है। इसके बाद से मुझे नहीं लगता कि चुनावों की भी जरूरत है।

Next Stories
1 Sharad Pawar: 41 साल पहले शरद पवार ने भी की थी बगावत, तब जनता पार्टी के समर्थन से बने थे CM, देखती रह गई थी कांग्रेस
2 ‘अटेंडेंस के नाम पर एनसीपी विधायकों के लिए हस्ताक्षर का किया गलत इस्तेमाल’, नवाब मलिक ने लगाए गंभीर आरोप
3 ABVP के बवाल पर RSS नाराज, पूछा- BHU में मुस्लिम प्रोफेसर संस्कृत पढ़ाए तो इसमें गलत क्या?
Coronavirus LIVE:
X