ताज़ा खबर
 

नक्सलियों ने भेजा लापता कोबरा जवान का फोटो, जिस पत्रकार के पास आया फोन, बताई पूरी कहानी

माओवादियों की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है कि सरकार जल्द से जल्द वार्ताकारों के नाम घोषित करे जिससे की आगे की बातचीत की जा सके।

सीआरपीएफ के जवान राकेश्वर सिंह मनहास।(क्रेडिट- इंडियन एक्सप्रेस)

छत्तीसगढ़ में सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पर नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ के दौरान लापता CoBRA कमांडो राकेश्वर सिंह की तस्वीर सामने आई है। यह तस्वीर नक्सलियों ने ही एक पत्रकार को भेजी और दावा किया है कि जवान सुरक्षित है। नक्सलियों ने अपने संदेश में यह भी कहा कि उनकी जवानों के साथ कोई दुश्मनी नहीं है। माओवादियों की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है कि सरकार जल्द से जल्द वार्ताकारों के नाम घोषित करे जिससे की आगे की बातचीत की जा सके।

बीजापुर के पत्रकार गणेश मिश्रा ने दावा किया कि नक्सली हिंसा के बाद से लापता जवान सुरक्षित हैं। नक्सलियों ने लापता जवान राकेश्वर सिंह का एक फोटो भी उन्हें भेजा है। एबीपी न्यूज पर गणेश मिश्रा ने बताया कि माओवादियों की तरफ से उनसे संपर्क किया गया और बताया गया कि जवान सुरक्षित हैं। गौरतलब है कि राकेश्वर सिंह की पत्नी ने पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से उनकी सुरक्षित वापसी की गुहार लगायी थी।

 Naxalites, Rakeshwar Singh राकेश्वर सिंह का परिवार(फोटो ANI)

गौरतलब है कि सुरक्षाबलों की तरफ से कहा गया था कि जिस तरह के इनपुट्स मिल रहे हैं उससे यह इनकार नहीं किया जा सकता है कि राकेश्वर सिंह नक्सलियों के कब्जे में हो सकते हैं। जवान की पांच साल की बेटी ने भी नक्सलियों से अपने पिता को रिहा करने की अपील की थी। उसने कहा था कि पापा की परी पापा को बहुत मिस कर रही है। मैं अपने पापा से बहुत प्यार करती हूं। प्लीज नक्सल अंकल मेरे पापा को घर भेज दो।

बुधवार को राकेश्वर सिंह के परिवार वालों की तरफ से जम्मू में प्रदर्शन करने की बात भी सामने आयी है। खबरों के अनुसार उनका पूरा परिवार बड़ी संख्या में युवाओं के साथ जम्मू-अखनूर हाईवे पर बैठ गया था। राकेश्वर सिंह जम्मू के ही रहने वाले हैं।

बताते चलें कि बस्तर के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने कहा था कि छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को माओवादियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवान मारे गए थे। वहीं एक जवान लापता हैं। सरकार की तरफ से दावा किया गया था कि बीजापुर मुठभेड़ में 25-30 नक्सली भी मारे गए थे।

Next Stories
1 जब शादी न करने वालों में लिया रामदेव का नाम, हंस पड़े लालू यादव, बोले- इनको भी जोड़ दिया
2 मुस्लिम चिंतक भड़के तो बोले सुधांशु त्रिवेदी, मस्जिद से गवाइए, ईश्वर अल्लाह तेरे नाम
3 लाइव डिबेट में ममता बनर्जी की तस्वीर ले पहुंचे गौरव भाटिया, बोले- दिल के अरमां आंसुओं में बह गए
यह पढ़ा क्या?
X