ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी पर जिग्नेश मेवानी का तंज- उनका सीना 56 इंच का, उन्हें कौन मार सकता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्‍या की नक्‍सली साजिश का खुलासा होने के बाद इस मामले पर सियासी बयान थम नहीं रहे हैं। अब गुजरात के निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी ने कहा कि मोदी जी तो 56 इंच का सीना लेकर घूमते हैं, उन्‍हें किस बात का डर है।

गुजरात से विधायक दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने की माओवादियों की साजिश का पर्दाफाश होने के बाद इस मसले पर सियासी बयान थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब गुजरात के दलित नेता और निर्दलीय विधायक जिग्‍नेश मेवानी ने तल्‍ख टिप्‍पणी की है। उन्‍होंने तंज कसते हुए क‍हा कि पीएम मोदी का सीना तो 56 इंच का है, उन्‍हें कौन मार सकता है। जिग्‍नेश ने कहा, ‘मोदी जी का सीना तो 56 इंच का है…उन्‍हें कौन मार सकता है। हम जैसे छोटे लोगों की हत्‍या की जा सकती है। मध्‍य प्रदेश के किसानों के सीने पर गोलियां लग सकती हैं। गुजरात के दलितों को गोली लग सकती है। मजदूरों को गोली लग सकती है। रवि पुजारी का मुझे धमकी मिल सकता है। मोदी जी तो 56 इंच का सीना लेकर घूमते हैं, उनको काहे का डर। फिर भी यद‍ि उन्‍हें इतना डर लगता है तो मैंने तो उन्‍हें नसीहत दी थी कि वह हिमालय पर चले जाएं…रिटायरमेंट ले लें। इसके बावजूद हम कामना करेंगे कि मोदी जी क्‍या इस देश के 130 करोड़ लोगों में से कोई असुरक्षित न रहे।’

दलित नेता ने पीएम मोदी की हत्‍या की माओवादियों की साजिश को भी फालतू और बेसिर-पैर का बताया है। जिग्‍नेश ने कहा, ‘यह बात (मोदी को जान से मारने की साजिश) बचकानी और मजाकिया लगती है। मुझे यह पूरी घटना अंबेडकर के नाम पर किए गए आंदोलन पर माओवाद का ठप्‍पा लगाने की महाराष्‍ट्र सरकार की साजिश लगती है। प्रकाश अंबेडकर पर अंगुली उठा रहे हो…शर्म आनी चाहिए। मैं भाजपा से पूछना चाहता हूं कि उनमें ईमान बचा है कि नहीं।’ दलित नेता ने रवि पुजारी के नाम पर आई धमकी के पीछे भी भाजपा का हाथ बताया है। उन्‍होंने बताया कि उसकी जुबान भाजापा के किसी प्रवक्‍ता की तरह लगती है। बता दें कि इस मामले में एफआईआर दर्ज की जा चुकी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूर्व पीएम राजीव गांधी की तरह मारने की साजिश रची जा रही थी। इस बात का खुलासा नक्सलियों की चिट्ठी से हुआ था। पुणे पुलिस के मुताबिक, उन्होंने नक्सलियों के कम्यूनिकेशन को इंटरसेप्ट कर इस बात का खुलासा किया। बता दें कि पूर्व पीएम राजीव गांधी की 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबेदुर में आत्मघाती हमलावरों ने हत्या कर दी थी। पुणे पुलिस ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने भीमा कोरेगांव हिंसा से जुड़े मामले में गिरफ्तार किए गए पांच लोगों में से एक के घर से एक चिट्ठी बरामद की थी। इसमें ही पीएम मोदी की राजीव गांधी की तरह हत्या किए जाने का जिक्र था। इसी के साथ महाराष्ट्र के सीएम फड़नवीस को भी कथित तौर पर माओवादी संगठनों की ओर से 2 धमकी भरे पत्र मिले हैं। पुलिस ने भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में रोना जैकब विल्सन, सुधीर ढावले, सुरेंद्र गाडलिंग समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। विल्सन को दिल्ली, ढावले को मुंबई, गाडलिंग, शोमा सेन और महेश राउत को नागपुर से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस का कहना है कि पीएम मोदी की हत्या की साजिश वाली चिट्ठी विल्सन के दिल्ली में मुनिरका स्थित फ्लैट से बरामद हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App