ताज़ा खबर
 

मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं नवजोत सिंह सिद्धू? अमृतसर में करेंगे शक्ति प्रदर्शन

सिद्धू ने मीडिया को ‘पंजाब मॉडल’ के बारे में बताते हुए कहा कि इससे राज्य फिर से समृद्ध होगा। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस आलाकमान द्वारा दिया गया 18 सूत्री कार्यक्रम हर पंजाबी को भागीदार बनाएगा। जनता की शक्ति से राज्य का विकास होगा।’’

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पंजाब कांग्रेस में विवाद जारी है। नवजोत सिंह सिद्धू के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद भी मामले का समाधान होता नहीं दिख रहा है। सिद्धू आज अमृतसर में शक्ति प्रदर्शन करेंगे। मंगलवार को अमृतसर में सिद्धू का जोरदार स्वागत किया गया। आज के कार्यक्रम में सभी कांग्रेसी विधायकों और आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को भी इसमें हिस्सा लेने के लिए कहा गया है।

इससे पहले मंगलवार को सिद्धू ने दिन भर कांग्रेसी मंत्रियों, विधायकों और सीनियर नेताओं के साथ बैठक की थी। इससे पहले पंजाब प्रदेश कांग्रेस प्रमुख बनने के बाद अमृतसर पहुंचने पर सिद्धू का जोरदार स्वागत किया गया था। नवांशहर में विधायक कुलजीत सिंह नागरा, राजकुमार वेरका, अंगद सैनी, सुखपाल भुल्लर, इंद्रबीर सिंह बोलारिया और गुरप्रीत सिंह भी सिद्धू के साथ थे।

सिद्धू ने मीडिया को ‘पंजाब मॉडल’ के बारे में बताते हुए कहा कि इससे राज्य फिर से समृद्ध होगा। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस आलाकमान द्वारा दिया गया 18 सूत्री कार्यक्रम हर पंजाबी को भागीदार बनाएगा। जनता की शक्ति से राज्य का विकास होगा।’’ सिद्धू ने कहा कि उन्होंने हर पंजाबी में सचाई और अधिकारों की भावना जगाने पर जोर दिया।

अमरिंदर समर्थक नहीं दे रहे हैं भाव: राज्य सरकार के मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ अपने मुद्दों को हल करने तक सिद्धू के साथ किसी भी तरह की निजी बैठक करने से इनकार किया है। मोहिंद्रा ने एक बयान में कहा कि मैं उनसे (सिद्धू) तब तक नहीं मिलूंगा जब तक कि वह मुख्यमंत्री से मिलकर उनके साथ अपने मुद्दों को सुलझा नहीं लेते।

गौरतलब है कि अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने भी ट्वीट किया था कि ”ये खबरें पूरी तरह झूठी हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह से मिलने के लिये समय मांग रहे हैं। मुख्यमंत्री के रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। वह तब तक सिद्धू से नहीं मिलेंगे जब तक वह सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ की गईं अपमानजक टिप्पणियों पर सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते।”

Next Stories
1 कोरोना का नया रूप: डॉक्टर पर एक साथ दो वैरियंट्स का हमला, 40 करोड़ लोगों पर अब भी खतरा- ICMR बोला
2 NSO Pegasus Project पर बीजेपी सांसद की मांग- कुछ छिपाने को नहीं तो इजरायल पीएम को खत लिखें मोदी और पता लगाएँ किसने दिया पैसा
3 पेगासस जासूसी: मोदी-शाह करवा रहे थे केंद्रीय मंत्री की जासूसी, बात समझ नहीं आई- कांग्रेस के दिग्विजय ने शिवराज सरकार को भी लपेटा
ये पढ़ा क्या?
X