ताज़ा खबर
 

सिद्धू का इस्तीफा: कैप्टन के मंत्री ने साधा निशाना तो अकाली ने कहा ‘नौटंकी’, उमर अब्दुल्ला ने भी मारा तंज

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्लाह ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उमर ने लिखा है पंजाब ही एक ऐसा राज्य है जहां कांग्रेस की सरकार है फिर भी कांग्रेस अपनी मदद नहीं कर पा रही है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा कांग्रेस को चारो तरफ से घेर रही है।

Author नई दिल्ली | July 14, 2019 5:38 PM
नवजोत सिंह सिद्धू (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों का दौरा थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस बीच पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफा देने को लेकर नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है। कोई इसे नौटंकी बता रहा है तो किसी ने सिद्धू को लेकर तंज कसा है।

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्लाह ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उमर ने लिखा है पंजाब ही एक ऐसा राज्य है जहां कांग्रेस की सरकार है फिर भी कांग्रेस अपनी मदद नहीं कर पा रही है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा कांग्रेस को चारो तरफ से घेर रही है।
बीजेपी नेता नलिन कोहली ने भी कांग्रेस को निशाने पर लिया है। कोहली का कहना है कि सिद्धू का इस्तीफा मंजूर किया जाता है या नहीं लेकिन कांग्रेस को इस मसले पर सफाई देनी होगी।

पंजाब सरकार में मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी का कहना है कि अगर सिद्धू इस्तीफा देना चाहते हैं तो उन्हें इस्तीफा मुख्यमंत्री को देना चाहिए।
अकाली दल ने सिद्धू के इस्तीफे को नौटंकी बताते हुए कहा है कि अगर वह इस्तीफा देना चाहते हैं तो फिर से इस्तीफा लिखें और पंजाब के गवर्नर को यह इस्तीफा सौंप दें। वह मंत्री बने रहने के लायक नहीं है, वह अयोग्य हैं।

गौरतलब है कि हाल ही में कैप्टन अमरिंदर और सिद्धू के बीच अनबन की कई खबरें आईं थी। ट्विटर पर सिद्धू ने अपने इस्तीफे का पत्र भी पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने पार्टी अध्यक्ष को संबोधित करते हुए मंत्री पद से इस्तीफा दिया है। सिद्धू के मुताबिक, उन्होंने 10 जून को ही यह पत्र तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंप दिया था।हालांकि इस बीच पंजाब के सीएम ऑफिस ने बताया कि उन्हें नवजोत सिंह सिद्धू का त्याग पत्र अभी तक नहीं मिला है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव में पंजाब में कांग्रेस को अधिक सीटें नहीं मिलने का ठीकरा सीएम अमरिंदर सिंह ने सिद्धू पर फोड़ा था और राहुल गांधी से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। इसके अलावा लोकसभा चुनाव के बाद हुई कैबिनेट बैठक में सिद्धू समेत कई मंत्रियों के विभाग भी बदल दिए थे।इसके बाद से ही कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच मनमुटाव की बातें सुर्खियों में थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App