ताज़ा खबर
 

नवजोत सिद्धू ने पाकिस्‍तान पर बोला हमला, कहा- पड़ोसी मुल्‍क में आतंकियों का जमावड़ा

अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवजोत सिंह सिद्धू ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी। सिद्धू ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की बस द्वारा लाहौर यात्रा का भी उल्लेख किया।

नवजोत सिंह सिद्धू ने आज अपने पाकिस्तान दौरे को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। (image source-Youtube)

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने हालिया पाकिस्तान दौरे को लेकर सफाई दी। सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान में हालात बेहद बुरे हैं, निराशाजनक है। आज पाकिस्तान में दुनियाभर के आतंकियों का जमावड़ा है, जिससे पाकिस्तान के भविष्य पर सवालिया निशान लग गया है। अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवजोत सिंह सिद्धू ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी। सिद्धू ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की बस द्वारा लाहौर यात्रा का भी उल्लेख किया। जिस पर तत्कालीन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी वाजपेयी जी का शानदार स्वागत किया था। हालांकि इसी बीच पाकिस्तान के तत्कालीन आर्मी चीफ परवेज मुशर्रफ ने कारगिल में घुसपैठ करा दी थी, लेकिन जब परवेज मशर्रफ पाकिस्तान के राष्ट्रपति बने थे तब उन्होंने भारत का दौरा किया था और प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने ही उनका भारत में स्वागत किया था।

इसके साथ ही नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तानी के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को न्यौता देने और बाद में नवाज शरीफ से मिलने पाकिस्तान जाने की बात भी याद दिलायी। पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल बाजवा से गले मिलने की बात पर सफाई देते हुए सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान आर्मी चीफ ने उन्हें मिलते ही कहा कि गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाशवर्ष से भारत के डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान के करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए रास्ता देने का प्रयास कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह भारत के साथ शांति चाहते हैं। सिद्धू के अनुसार, वह पाकिस्तान आर्मी चीफ की इन बातों को सुनकर इतना खुश हुए कि उन्होंने जनरल बाजवा को भावनाओं में बहकर गले लगा लिया।

नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान से शांति की भी वकालत की। सिद्धू ने कहा कि पाकिस्तान कोई नो मेन्स लैंड नहीं है। पाकिस्तान में मिले प्यार का जिक्र किया और कहा कि पाकिस्तान में मिले प्यार के बाद उन्हें भारत और पाकिस्तान के बीच शांति की उनकी इच्छाएं काफी बढ़ गई हैं। पीओके राष्ट्रपति के बराबर में बैठाने के विवाद पर नवजोत सिंह सिद्धू ने सफाई देते हुए कहा कि वह सिर्फ प्रोटोकॉल के तहत वहां बैठे थे और फिर उन्हें पता नहीं था कि उनके बराबर में पीओके के राष्ट्रपति बैठे हैं? पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा अपनी आलोचना किए जाने पर सिद्धू ने कहा कि देश में लोकतंत्र है और किसी को भी कुछ भी बोलने का अधिकार है और जरुरी नहीं है कि वह भी उनके खिलाफ कुछ बोलें!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App