ताज़ा खबर
 

सिद्धू के पाकिस्‍तान दौरे का असर? पाकिस्‍तान ने भारतीयों के लिए खोले करतारपुर साहिब के दरवाजे

सूत्रों के अनुसार, करतारपुर साहिब के दरवाजे भारतीय नागरिकों के लिए सिख गुरु गुरुनानक देव जी के 550वें जन्मदिन के अवसर पर खोले जा सकते हैं। गुरुनानक देव जी का 550वां जन्मदिन नवंबर, 2019 में मनाया जाएगा।

नवजोत सिंह सिद्धू ने इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तानी सेनाध्यक्ष को गले लगाया था। (file pic)

पंजाब सरकार में मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने बीते दिनों अपने पाकिस्तान दौरे पर पाकिस्तानी सेनाध्यक्ष कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था। जिसके बाद सिद्धू को भारत में काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। अब शायद लगता है कि नवजोत सिंह सिद्धू की हग डिप्लोमेसी काम कर गई है! दरअसल नवजोत सिंह सिद्धू का कहना है कि पाकिस्तान भारतीयों के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर विचार कर रहा है। पाकिस्तान के ऐलान के बाद भारतीय सिख श्रद्धालु करतारपुर साहिब के दर्शन करने पाकिस्तान जा सकेंगे और इसके लिए उन्हें वीजा लेने की जरुरत भी नहीं पड़ेगी। बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए भारतीयों की तरफ से लंबे समय से मांग की जा रही थी।

सूत्रों के अनुसार, करतारपुर साहिब के दरवाजे भारतीय नागरिकों के लिए सिख गुरु गुरुनानक देव जी के 550वें जन्मदिन के अवसर पर खोले जा सकते हैं। गुरुनानक देव जी का 550वां जन्मदिन नवंबर, 2019 में मनाया जाएगा। अब जब पाकिस्तान द्वारा करतारपुर कॉरिडोर खोलने की खबर आयी  है तो नवजोत सिंह सिद्धू ने इस पर काफी खुशी जतायी है। एबीपी न्यूज के साथ बातचीत में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि “इस फैसले ने करोड़ो पंजाबी और सिखों का जीवन बना दिया है।” सिद्धू ने आगे कहा कि “मैं अपने दोस्त और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस फैसले के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं। इसके साथ ही मैं अपनी सरकार से भी अपील करता हूं कि वह भी एक कदम आगे बढ़ाए।” हालांकि अभी तक करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने के संबंध में पाकिस्तान की तरफ से भारत को कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

करतारपुर साहिब पाकिस्तान के पंजाब में नरोवल जिले में स्थित है। मान्यता है कि पहले सिख गुरु गुरुनानक देव जी ने करतारपुर साहिब में ही अपनी अंतिम सांस ली थी। उल्लेखनीय है कि इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने और वहां पाकिस्तान सेनाध्यक्ष कमर जावेद बाजवा के गले लगने के कारण जब नवजोत सिंह सिद्धू की आलोचनाएं हुईं थी, तब उन्होंने भारत लौटकर अपनी सफाई में कहा था कि “जब कमर जावेद बाजवा ने उनसे कहा था कि पाकिस्तान करतारपुर साहिब के दरवाजे भारतीयों के लिए खोलने पर जल्द ही कोई फैसला कर सकता है। इसके बाद खुशी में उन्होंने कमर जावेद बाजवा को गले लगा लिया था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App