ताज़ा खबर
 

यू टर्न: फेसबुक पर किया पार्टी छोड़ने का एलान, अब सिद्धू की वाइफ बोलीं- सब कुछ सही, भाजपा में ही हूं

अमृतसर से भाजपा के पूर्व सांसद और क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत ने कहा कि उनकी शिकायतें दूर कर दी गयी हैं। पार्टी सूत्रों ने बताया कि भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उन्हें तसल्ली दी है।

Author नई दिल्‍ली | April 4, 2016 7:02 PM
सूत्रों ने बताया कि नवजोत ने अपने पति के साथ रात के भोजन पर भाजपा महासचिव (संगठन) रामलाल से भेंट की और अपनी शिकायतें दूर कीं।

बीते एक अप्रैल को फेसबुक के माध्यम से भाजपा छोड़ने की घोषणा करने वाली पंजाब में भाजपा की मुख्य संसदीय सचिव नवजोत कौर सिद्धू ने सोमवार को कहा कि ‘‘सब कुछ ठीक है’’ और वह पार्टी में बनी हुई हैं। अमृतसर से भाजपा के पूर्व सांसद और क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत ने कहा कि उनकी शिकायतें दूर कर दी गयी हैं। पार्टी सूत्रों ने बताया कि भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उन्हें तसल्ली दी है।

READ ALSO: पंजाब में BJP को झटका, सिद्धू की पत्नी और विधायक नवजोत कौर ने पार्टी से इस्तीफा दिया

सूत्रों ने बताया कि नवजोत ने अपने पति के साथ रात के भोजन पर भाजपा महासचिव (संगठन) रामलाल से भेंट की और अपनी शिकायतें दूर कीं। नवजोत का कहना है कि उनकी सभी समस्याएं विधानसभा क्षेत्र के लोगों और उनके विकास से जुड़ी हुई थीं। सूत्रों ने बताया कि नवजोत और उनके पति को ऐसा लग रहा था कि पार्टी उन्हें ‘‘नजरअंदाज’’ कर रही है और दोनों इस बात से नाराज थे। दोनों को पंजाब में सत्तारूढ़ गठबंधन सहयोगी शिरोमणि अकाली दल से भी दिक्‍कतें थीं।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15399 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback

2014 के आम चुनावों के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू को जब अरूण जेटली के लिए अमृतसर लोकसभा सीट छोड़ने कहा गया था तब इससे भी दोनों पति-पत्नी नाराज थे। हालांकि उस सीट से जेटली को कांग्रेस नेता अमरिन्दर सिंह के हाथों हार का सामना करना पड़ा। नवजोत ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है, ‘‘अंतत: 49 करोड़ रूपये की वित्तीय निविदा खुली और काम फिर से शुरू हुआ। रामलाल जी और श्रीमान नवजोत का हस्तक्षेप मुझे सेवा के रास्ते पर वापस ले आया। किसी भी कीमत पर अपने क्षेत्र के लोगों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं करूंगी।’’ वह अमृतसर की विकास परियोजनाओं का जिक्र कर रही थीं, जिनके पूरा होने में विलंब हो रहा था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App