ताज़ा खबर
 

जाली नोटों पर शिकंजा कसने की तैयारी में मोदी सरकार! हर 3-4 साल में बदले जाएंगे नोटों के सिक्योरिटी फीचर

भारतीय नोटों के डिजाइन में बदलाव लंबे समय से लंबित है। वर्ष 2000 में 1000 रूपये का नोट पेश किया गया था तथा उसके बाद नोटबंदी तक उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया।

Author April 2, 2017 2:54 PM
नोटबंदी के बाद जारी किए गए 500, 2000 रुपए के नए नोट। (Source: ANI)

केंद्र सरकार 500 व 2000 रूपये के बैंक नोटों के सुरक्षा फीचर में हर 3-4 साल में बदलाव करने की सोच रही है ताकि जाली नोटों की समस्या पर लगाम लगाई जा सके। सरकार ने नोटबंदी के बाद पिछले चार महीने में भारती मात्रा में जाली मुद्रा पकड़ने जाने के मद्देनजर यह फैसला किया है। सूत्रों के अनुसार इस मुद्दे पर गुरूवार को यहां एक उच्चस्तरीय बैठक में चर्चा हुई। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि सहित वित्त व गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे।

इस कदम का समर्थन करते हुए गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि ज्यादातर विकसित देश अपने मुद्रा नोटों में सुरक्षा फीचर हर 3-4 साल में बदल देते हैं। भारत के लिए इस नीति का पालन करना अनिवार्य है। भारतीय नोटों के डिजाइन में बदलाव लंबे समय से लंबित है। वर्ष 2000 में 1000 रूपये का नोट पेश किया गया था तथा उसके बाद नोटबंदी तक उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया। वहीं 1987 में पेश 500 रूपये का नोट पेश किया और उसमें बदलाव एक दशक पहले किया गया था।

अधिकारियों का कहना है कि नये मुद्रा नोटों में भी अतिरिक्त सुरक्षा फीचर नहीं हैं। हाल ही में पकड़े गए जाली नोटों में पाया गया है कि 17 सुरक्षा फीचर में से कम से कम 11 की नकल की गई है।

देखिए वीडियो - नोटबंदी के बावजूद भारत की विकास दर 7 प्रतिशत पर बरकरार; चीन दूसरे नंबर पर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App