ताज़ा खबर
 

गोरक्षा के नाम पर हो रहे हमलों से अल्पसंख्यकआयोग चिंतित

गोरक्षकों की ओर से अल्पसंख्यकों और दलितों के खिलाफ किए जा रहे हमलों की पृष्ठभूमि में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने कहा कि ये घटनाएं चिंताजनक और अफसोसनाक हैं।

Author नई दिल्ली | September 20, 2016 5:46 AM
गौमांस खाने की अफवाह के चलते दादरी में हुई एक मुस्लिम की हत्‍या के खिलाफ नई दिल्‍ली में प्रदर्शन करते एक्टिविस्‍ट।

देश के कई हिस्सों में कथित गोरक्षकों की ओर से अल्पसंख्यकों और दलितों के खिलाफ किए जा रहे हमलों की पृष्ठभूमि में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने रविवार को कहा कि ये घटनाएं चिंताजनक और अफसोसनाक हैं। प्रशासन के स्तर पर ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने की जरूरत है। आयोग के अध्यक्ष नसीम अहमद ने एक बातचीत में कहा कि इस तरह के हमले चिंताजनक और अफसोसनाक हैं।

इनको रोकने के लिए प्रशासन के स्तर पर कड़ी कार्रवाई की जरूरत है। हाल में मेवात में दो महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार, बिरयानी से मांस के नमूने एकत्र करने और दिल्ली में दो लोगों पर कथित गोरक्षकों के हमले की घटनाओं का हवाला देते हुए अहमद ने कहा कि मेवात की घटना पर हमने प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। इसी तरह से दिल्ली की घटना पर हमने पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर रिपोर्ट तलब की है। रिपोर्ट आ जाने के बाद आगे कदम उठाया जाएगा। हाल के कुछ महीनों में कथित गोरक्षकों ने अल्पसंख्यक और दलित समुदाय के लोगों पर हमले किए हैं। गुजरात के उना में दलितों की बर्बर पिटाई के बाद दलित समुदाय से कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिली थी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि गोरक्षा का अभियान चलाने वालों में ज्यादातर ऐसे होते हैं जो रात के समय असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त होते हैं और दिन में गोरक्षा के नाम का चोला ओढ़ लेते हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App