ताज़ा खबर
 

J&K: टीम इंडिया की हार के बाद भिड़े छात्रों के दो गुट, पुलिस ने लाठीचार्ज-आंसूगैस से किया कंट्रोल

श्रीनगर के नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी में हुई घटना। दोनों समूहों के बीच पत्‍थरबाजी हुई। बाहरी स्‍टूडेंट्स का आरोप है कि कुछ अज्ञात स्‍टूडेंट्स के ग्रुप ने टीम इंडिया की हार के बाद भारत विरोधी नारे लगाए।

Author श्रीनगर | April 1, 2016 6:51 PM
एक लोकल इंजीनियरिंग स्‍टूडेंट ने बताया कि दोपहर में जब स्‍थानीय छात्र शुक्रवार की नमाज के बाद कैंपस लौट रहे थे, कुछ बाहरी राज्‍यों के स्‍टूडेंट्स ने भारत माता की जय और पाकिस्‍तान विरोधी नारे लगाने लगे। (FACEBOOK)

श्रीनगर के नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी में गुरुवार को मुंबई में भारत और वेस्‍ट इंडीज के बीच खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले को लेकर स्‍थानीय और दूसरे राज्‍य के स्‍टूडेंट्स आपस में भिड़ गए। बाहरी स्‍टूडेंट्स का आरोप है कि कुछ अज्ञात स्‍थानीय स्‍टूडेंट्स के ग्रुप ने टीम इंडिया की हार के बाद भारत विरोधी नारे लगाए। उनका यह भी आरोप है कि कुछ लोगों ने वेस्‍ट इंडीज की जीत पर पटाखे फोड़े। बाहरी राज्‍यों के स्‍टूडेंट्स शुक्रवार को कैंपस में इकट्ठे हुए और उन्‍होंने कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाने के आरोपी स्‍टूडेंट्स के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। बता दें कि बाहरी राज्‍यों के स्‍टूडेंट्स ने भारतीय झंडे ले रखे थे और उन्‍होंने पाकिस्‍तान विराेधी नारे लगाए। वहीं स्‍थानीय स्‍टूडेंट्स ने हरा झंडा ले रखा था और उन्‍होंने कश्‍मीर और पाकिस्‍तान के पक्ष में नारेबाजी की।

एक बाहरी इंजीनियरिंग स्‍टूडेंट ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत में बताया, ”भारत के मैच हारने के बाद कई स्‍थानीय इंजीनियरिंग स्‍टूडेंट्स ने भारत विरोधी नारे लगाए और हॉस्‍टल में मैच देख रहे दूसरे राज्‍यों के स्‍टूडेंट्स के साथ मारपीट की। आज भी कुछ स्‍टूडेंट्स कैंपस में इकट्ठे हुए और उन्‍होंने भारत के विरोध में और पाकिस्‍तान की तारीफ में नारे लगाए।” स्‍टूडेंट्स ने आरोप लगाया कि कुछ बाहरी लोग भी इस प्रदर्शन में शामिल हुए।

सेकंड सेमेस्‍टर में पढ़ने वाले एक लोकल इंजीनियरिंग स्‍टूडेंट ने बताया कि दोपहर में जब स्‍थानीय छात्र शुक्रवार की नमाज के बाद कैंपस लौट रहे थे, कुछ बाहरी राज्‍यों के स्‍टूडेंट्स ने भारत माता की जय और पाकिस्‍तान विरोधी नारे लगाने लगे। उसने बताया, ”उन्‍होंने कुछ स्‍थानीय स्‍टूडेंट्स को भड़काया, जिसके बाद वे बाहरी स्‍टूडेंट्स से भिड़ गए। इस झड़प में एक टीचर और कुछ स्‍टूडेंट्स को चोटें लगी हैं।” स्‍टूडेंट्स ने एक दूसरे पर कैंपस में शांति में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाया। मामला बिगड़ता देख अधिकारियों ने कैंपस का मेन एंट्रेंस गेट बंद करा दिया ताकि कोई बाहरी प्रवेश न कर सके।

एनआईटी के रजिस्‍ट्रार फैयाज अहमद मीर ने क्रिकेट मैच को लेकर स्‍टूडेंट्स में संघर्ष होने की पुष्टि की है, हालांकि, उन्‍होंने किसी के चोटिल होने से इनकार किया। मीर ने कहा, ”दो टीमों के सपोर्टरों के बीच विवाद था। इन संघर्ष में किसी को चोट नहीं आई है। हालात नियंत्रण में हैं।”

एनआईटी के स्‍टाफ ने दोनों ग्रुप के बीच शांति स्‍थापित करने की कोशिश की, लेकिन जब‍ स्‍टूडेंट्स नहीं माने तो पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस ने स्‍टूडेंट्स पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों का इस्‍तेमाल किया। हजरतबल के सब डिविजनल पुलिस ऑफिसर सज्‍जाद बुखारी ने बताया कि गुरुवार को स्‍टूडेंट्स के दो ग्रुप में बहस हुई और यही शुक्रवार को भी जारी रहा। दोनों गुप ने एक दूसरे पर पत्‍थरबाजी की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App