हाईवे के लिए लागू होगी नई टोल पॉलिसी, जितना चलेंगे उतने ही देने होंगे पैसे

नेशनल हाईवे की टोल पॉलिसी में आगामी तीन महीनों में बदलाव किए जाएंगे। इसके अलावा टोल प्लाजा को शहरों से दूर रखा जाएगा। साथ ही जो नेशनल हाईवे फोरलेन की श्रेणी में नहीं हैं वहां से टोल हटाने की समय-सीमा तय की जाएगी।

toll plaza - Copy
नई टोल पॉलिसी को पूरी तरह इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से जोड़ा जाएगा. टोल प्लाजा (express photo)

जो लोग सड़क के जरिए ज्यादा सफर तय करते हैं उनके लिए एक खुशखबरी है। सरकार जल्द ही टोल पॉलिसी में व्यापक बदलाव करने जा रही है। जानकारी के मुताबिक अब जितनी दूरी तय करेंगे उतने ही रुपये आपको टोल के रूप में चुकाने होंगे। वर्तमान में 60 किलोमीटर पर टोल प्लाजा लगाए गए हैं। लेकिन अगर कोई 30 या 20 किलोमीटर यात्रा करता है तो उसे 60 किलोमीटर तक के ही पैसे चुकाने होते हैं।

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ के मुताबिक नेशनल हाईवे की टोल पॉलिसी में आगामी तीन महीनों में बदलाव किए जाएंगे। इसके अलावा टोल प्लाजा को शहरों से दूर रखा जाएगा। साथ ही जो नेशनल हाईवे फोरलेन की श्रेणी में नहीं हैं वहां से टोल हटाने की समय-सीमा तय की जाएगी।

सड़क मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया है कि नई टोल पॉलिसी काफी व्यापक होने वाली है। टोल पॉलिसी को पूरी तरह इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से जोड़ा जाएगा। स्मार्ट टैग को भी हर जगह लागू किया जाएगा। ताकि यात्री बिना देरी के अपना टोल चुका कर सफर तय करते रहें। वैसे भी टोल एक्सपर्ट्स ने सुझाव दिया है कि जब तक इलेक्ट्रॉनिक मोड के जरिए 80 फीसदी गाड़ियां टोल फी नहीं चुकाती हैं तब तक टोल प्लाजा पर लगने वाले जाम से छुटकारा नहीं मिल सकता है।

हालांकि, इस पॉलिसी को लागू करने में सड़क मंत्रालय को कई चुनौतियों से जूझना पड़ सकता है। मंत्रालय से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक देश में जो नए हाईवे बने हैं उन पर नई टोल पॉलिसी लागू करना मुश्किल नहीं है। लेकिन, पुराने हाईवे पर इसे लागू करना बेहद कठिन है। क्योंकि, पुराने हाईवे पर कई सारे एंट्री और एग्जिट पॉइंट बने हुए हैं। इसके अलावा नगर निगम के क्षेत्र में पड़ने वाले टोल प्लाजा भी एक टकराव की वजह बन सकते हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट