ताज़ा खबर
 

नेशनल हेराल्‍ड: शर्ट उतारकर उतरे कांग्रेसी, पोस्‍टर में मोदी को हिटलर दिखाया, पुतले को जूते से पीटा

नेशनल हेराल्‍ड केस में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी की कोर्ट में पेशी से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं ने कई राज्‍यों में प्रदर्शन किया।

Author नई दिल्‍ली | Updated: December 19, 2015 1:29 PM
सोनिया राहुल की कोर्ट में पेशी के विरोध में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने देश के कई हिस्‍सों में प्रदर्शन किया। (PHOTO: ANI)

नेशनल हेराल्‍ड केस में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी की कोर्ट में पेशी से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं ने कई राज्‍यों में प्रदर्शन किया। पार्टी कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और उन्‍होंने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन नारेबाजी की। उधर, पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गांधी परिवार को कोर्ट में घसीटने के इनाम के तौर पर ही बीजेपी नेता सुब्रह्मण्‍यम स्‍वामी को सरकारी आवास और सुरक्षा दी गई है। आजाद के मुताबिक, बीजेपी विपक्ष मुक्‍त भारत बनाने की कोशिश कर रही है। बता दें कि स्‍वामी की याचिका पर ही कार्रवाई करते हुए कोर्ट ने सोनिया और राहुल को तलब किया है।

नेशनल हेराल्‍ड केस: सोनिया-राहुल गांधी की कोर्ट में पेशी आज, जानिए, इस मामले से जुड़ी हर अहम बात

शर्ट उतारकर प्रदर्शन, पोस्‍टर में मोदी को हिटलर दिखाया
कांग्रेस ने नागपुर, वाराणसी, जयपुर, भोपाल, बेंगलुरु जैसे शहरों में प्रदर्शन किया। बेंगलुरु में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शर्ट उतारकर सड़कों पर प्रदर्शन किया। पीएम नरेंद्र मोदी के पुतलों को जूते से पीटा गया। पोस्‍टर में पीएम को हिटलर के तौर पर दिखाया। जयपुर में कांग्रेसी प्रदर्शन की अगुआई सचिन पायलट ने की। दिल्‍ली में कांग्रेस मुख्‍यालय के सामने भी पार्टी कार्यकर्ता समर्थन दिखाने के मकसद से उतरे।

रॉबर्ट वाड्रा समर्थन में
सोनिया के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि राजीनतिक बदले और नाम खराब करने की कोशिश काम नहीं आएगी। मेरी सास और साले को मेरा पूरा समर्थन है। वहीं कांग्रेस के लीगल सेल के केसी मित्‍तल ने कहा, ”अपीयरेंस होनी है। अपीयरेंस करेंगे। बेल बॉन्‍ड एक सामन्‍य प्रक्रिया है।” वहीं, कांग्रेस प्रवक्‍ता राज बब्‍बर ने बीजेपी नेता स्‍वामी पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस ने कहा, ”उन्‍होंने एक सुपारीबाज मुकदमेबाज को हायर किया है। उनको किसी जमाने में सीआईए का एजेंट कहा जाता था। बाद में उन्‍हें आर्म डीलर अदनान खाशोगी का सहयोगी भी कहते थे।” हालांकि, सरकार का बचाव करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। अगर राहुल गांधी को समस्‍या है तो उन्‍हें सुप्रीम कोर्ट जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories