ताज़ा खबर
 

सभी भारतीय आपके साथ कंधा से कंधा मिलाकर खड़े हैं : नरेन्द्र मोदी ने सियाचीन में सैनिकों से कहा

नयी दिल्ली: दीवाली के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सियाचिन ग्लेशियर पर तैनात भारतीय सैनिकों के साथ कुछ समय बिताया और वहां संदेश दिया कि सभी भारतीय उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है । बर्फ की उच्च्ंची चोटियों से मोदी ने दिपावली के मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को बधाई दी। ‘‘शायद […]

Author Updated: October 24, 2014 12:50 PM

नयी दिल्ली: दीवाली के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सियाचिन ग्लेशियर पर तैनात भारतीय सैनिकों के साथ कुछ समय बिताया और वहां संदेश दिया कि सभी भारतीय उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है ।

बर्फ की उच्च्ंची चोटियों से मोदी ने दिपावली के मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को बधाई दी।

‘‘शायद पहली बार किसी प्रधानमंत्री को दिपावली के शुभ दिन हमारे जवानों के साथ समय बिताने का अवसर मिला है।’’

मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘ बर्फ की उच्च्ंची चोटियों से और अपने बहादुर जवानों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों को में शुभ दिपावली की कामना करता हूं।राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सियाचिन से शुभ दिपावली की शुभकामना दी । मैं समझता हूं कि प्रणब दा को मिली बधाई में यह अनोखा होगा।’’

दिल्ली से रवाना होने से पहले पूर्व मोदी ने कहा कि वह बर्फ की उच्च्ंची चोटियों पर इस संदेश के साथ जा हैं कि सीमा की सुरक्षा में लगे सैनिकों के पीछे सभी लोग दृढ़ता से खड़े हैं।

दीवाली के त्यौहार पर जम्मू कश्मीर के बाढ़ प्रभावित लोगों के साथ कुछ क्षण बिताने के लिए श्रीनगर जाने से पूर्व मोदी ने सियाचिन का दौरा किया।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं प्रत्येक भारतीय की ओर से यह संदेश लेकर सियाचिन जा रहा हूं कि हम आपके साथ कंंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।’’
देश के प्रहरियों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ चाहे यह उच्च्ंचाई हो या भीषण ठंड , हमारे सैनिकों को कोई नहीं रोक सकता । वे वहां खड़े हैं और देश की सेवा कर रहे हैं । वे हमें सही मायने में गौरवान्वित कर रहे हैं।’’

सियाचिन के संक्षिप्त दौरे के बाद मोदी बाढ़ पीड़ितोंं से मिलने के लिए श्रीनगर रवाना हो गये ।

मोदी ने माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर पर लिखा, ‘‘ सियाचिन दौरे के बाद मैं श्रीनगर का अपना पूर्व निर्धारित दौरा जारी रखूंगा और हाल ही में आयी बाढ़ से प्रभावित लोगों के साथ समय बिताउंगा।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘ हर किसी को सियाचिन के कठिन हालात के बारे में जानकारी है । हर चुनौती से पार पाते हुए हमारे सैनिक अडिग खड़े हैं , हमारी मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories