ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री मोदी के विवादास्पद सूट के लिए 1.21 करोड़ रुपए की बोली

सूरत के एक कपड़ा कारोबारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विवादास्पद बंद गला सूट की आज नीलामी के दौरान 1.21 करोड़ रूपये की बोली लगाई। मोदी ने यह सूट पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान पहना था। राजेश जुनेजा ने प्रधानमंत्री मोदी के नेवी ब्लू रंग के बंद गले के […]

Author February 18, 2015 5:56 PM
यह सूट मोदी ने पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की यात्रा के दौरान पहना था जिस पर सफेद धारियों में उनका नाम जड़ा था। (फ़ोटो-पीटीआई)

सूरत के एक कपड़ा कारोबारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विवादास्पद बंद गला सूट की आज नीलामी के दौरान 1.21 करोड़ रूपये की बोली लगाई। मोदी ने यह सूट पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान पहना था।

राजेश जुनेजा ने प्रधानमंत्री मोदी के नेवी ब्लू रंग के बंद गले के सूट के लिए 1.21 करोड़ रुपए की बोली लगाई। तीन दिनों के नीलामी कार्यक्रम के दौरान यह सूट आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

इससे पहले, एक अप्रवासी भारतीय विराल चोकसी ने इसके लिए 1.11 करोड़ रुपए की बोली लगाई। एक अन्य कारोबारी सुरेश अग्रवाल ने सूट के लिए एक करोड़ रुपए की बोली लगाई। एक अन्य व्यक्ति राजू अग्रवाल ने सूट के लिए 51 लाख रुपए की पेशकश की।

इससे पहले, सूरत स्थित चार्टर्ड एकाउंटेंट पंकज ने 11 लाख रुपए की पहली बोली लगाई थी, इसके कुछ ही मिनट बाद राजू अग्रवाल ने 51 लाख रुपए की बोली लगाई। सुरेश अग्रवाल ने कहा, ‘‘मैंने एक करोड़ रुपए की पेशकश की। यह कार्य धर्मार्थ मकसद से है और जब प्रधानमंत्री गंगा की सफाई के मकसद से यह कर रहे हों, तब मैंने सूट खरीदने की दिशा में आगे बढ़ने का निर्णय किया।’’

इस संबंध में उस समय विवाद उत्पन्न हो गया था जब एक अप्रवासी भारतीय गुजराती कारोबारी रमेश बी विरानी ने वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन में कहा था कि उन्होंने मोदी को सूट भेंट किया जब वह अपने पुत्र के विवाह समारोह के लिए प्रधानमंत्री को निमंत्रित करने गए थे।

राजनीतिक क्षेत्र में बहस का मुद्दा बने प्रधानमंत्री के इस सूट की उन 455 वस्तुओं के साथ नीलामी की जा रही है जो मोदी को उनके कार्यकाल के पहले नौ महीने के दौरान तोहफे के तौर पर प्राप्त हुई। नीलामी का मकसद प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी ‘स्वच्छ गंगा मिशन’ के लिए धन जुटाना है।

सूरत के नगर निगम आयुक्त मिलिंद तोरावने ने ‘पीटीआई भाषा’ को बताया, ‘‘अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस सूट को पहना था, उसकी सूरत में तीन दिवसीय आयोजन के दौरान उन अन्य 455 अन्य वस्तुओं के साथ नीलामी की जा रही है जो प्रधानमंत्री को तोहफे के तौर पर प्राप्त हुई थी।’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिला तोहफा राष्ट्रीय सम्पत्ति है और इसकी नीलामी से अर्जित धन का उपयोग ‘स्वच्छ गंगा अभियान’ के लिए किया जाएगा।

इस कार्यक्रम का आयोजन सूरत में एसएमसी साइंस कन्वेंशन सेंटर द्वारा किया जा रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री कार्यालय ने नीलामी कार्यक्रम का आयोजन इस शहर में करने का निर्णय किया है।

तोरावने ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान मोदी ने वर्ष में एक बार उन्हें मिले तोहफों की नीलामी करने का चलन शुरू किया था और इसे बालिकाओं की शिक्षा से संबंधित कन्या केलवानी योजना में दिया जाता था।

गौरतलब है कि 25 जनवरी को दिल्ली में हैदराबाद हाउस में ओबामा के साथ शिखर वार्ता के दौरान मोदी का बंद गला सूट पहने हुए चित्र सामने आया था। इस चित्र को करीब से देखने पर इसकी धारियों पर छोटे अक्षरों में नरेंद्र दामोदरदास मोदी लिखा पाया गया था।

इस सूट को लेकर सोशल मीडिया पर काफी बहस छिड़ गई थी और उनके राजनीतिक विरोधियों ने महंगा सूट पहनने पर उनपर निशाना साधा था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मोदी को आत्ममुग्ध करार दिया था। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान मोदी के महंगे सूट का विषय उठाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App