ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी पर सोनिया व राहुल गांधी ने किया जमकर वार, कहाः ‘हिंदुस्तान के मन की बात सुनें’

बीते दिन संदन के लोकसभा सदन में प्ले कार्ड को लेकर हंगामा कर रहे कांग्रेस के 25 सांसदों को स्पीकर सुमित्रा महाजन द्वारा निलंबित किए जाने के बाद से विपक्ष पार्टी फिर से तीखे वार करती नजर आ रही है।

पीएम मोदी पर बरसे राहुल-सोनिया

बीते दिन संदन के लोकसभा सदन में प्ले कार्ड को लेकर हंगामा कर रहे कांग्रेस के 25 सांसदों को स्पीकर सुमित्रा महाजन द्वारा निलंबित किए जाने के बाद से विपक्ष पार्टी फिर से तीखे वार करती नजर आ रही है।

गौरतलब है कि कांग्रेसी सांसद को स्पीकर के आदेश के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में संसद परिसर में प्रदर्शन किया था, जिसके चलते उन्हें निलंबित कर दिया गया। महात्मा गांधी की मूर्ति के पास कांग्रेसी नेताओं ने काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया।

इसके बाद आज फिर से जारी लोकसभा बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी की सरकार पर हमला करते हुए कहा कि संसद को चलाना सरकार की ड्यूटी बनती है और आज लोकतंत्र की हत्या हो रही है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि जो 25 सांसदों के साथ किया जा रहा है, वह सिर्फ उनके साथ बल्कि पूरे देश के लोगों के साथ हो रहा है।

वहीं दूसरी ओर राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए कहा, प्रधानमंत्री मोदी को मन की बात करने की आदत है, तो वे एक बार हिंदुस्तान के मन की बात भी सुन लें। जबकि लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मोदी सरकार ने स्पीकर से भद्दा काम करवाया है।

राहुल ने आगे फिर मध्यप्रदेश की बीजेपी सरकार को व्यापमं मामले में घेरते हुए तीखा जुवानी हमला किया औऱ कहा कि इस घोटाले ने हज़ारों युवाओं के भविष्य तबाह कर दिया है, जिसकी जिम्मेदार सिर्फ बीजेपी सरकार है।

वहीं दूसरी ओऱ कांग्रेस उपाध्यक्ष ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद एक बार फिर से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर निशाना साधते हुए कहा है, उन्होंने कानन तोड़ा है इसलिए पार्टी को उनसे इस्तीफा मांगना चाहिए।

संसद में जारी गतिरोध के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल वे कहा कि हम इनके सामने ज़मीन के मुद्दे पर खड़े हुए और इन्होंने कई धमकियां दी और फिर भाग गए। उन्होंने कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए हम प्रेशर कम नहीं करेंगे, संसद को घेरेंगे, चाहे हम सभी को संसद से उठाकर ही क्यों न फेक दिया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App