ताज़ा खबर
 

देश को मज़बूत सरकार चाहिए, मैं तो वापस चाय की दुकान खोल लूंगा- अपने पुराने ट्वीट पर घिरे नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विरोधी उनके एक पुराने ट्वीट पर घेर रहे हैं और इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। उनका यह ट्वीट 2014 का है। तब वह प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में थे। उन्होंने तत्कालीन यूपीए सरकार को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया था। नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया था कि, ‘भारत को […]

corona virus, pm modiपीएम मोदी का पुराना ट्वीट, सोशल मीडिया पर तैर रहा। फोटो- पीटीआई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विरोधी उनके एक पुराने ट्वीट पर घेर रहे हैं और इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। उनका यह ट्वीट 2014 का है। तब वह प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में थे। उन्होंने तत्कालीन यूपीए सरकार को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया था।

नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया था कि, ‘भारत को एक मजबूत सरकार की जरूरत है। मोदी की बात नहीं है। मैं वापस जाकर चाय का स्टॉल भी खोल सकता हूं। लेकिन देश और पीड़ा नहीं झेल सकता।’ इस ट्वीट को अब निकाल कर लोग कमेंट कर रहे हैं कि अब नरेंद्र मोदी के इस्तीफे का वक्त आ गया है। कुछ दिन पहले ट्विटर पर “नरेंद्र मोदी इस्तीफा दो” ट्रेंड भी कराया था।

नरेंद्र मोदी के 2014 के इस ट्वीट पर अभी आ रहे कुछ कमेंट्स देखें:

देश में कोरोना महामारी के वीभत्स रूप और इससे निपटने में बदइंतजामी के चलते सरकार की काफ़ी किरकिरी हो रही है। ठाकुर नाम सिंह नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘इससे अच्छा अवसर आपको नहीं मिलेगा, जल्द से जल्द इस्तीफा दीजिए और नाले की गैस से सिलेंडर भरकर चाय बनाइए।’

‘जन की बात’ नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘ये है मोदीजी के काल में देश की जनता की हालत, जिन्होंने मोदीजी को देश का मुखिया बनाया,उन्हीं लोगों को आखिरी देहाग्नि भी सही तरह से नहीं मिल रही है। Crying face!अगर पिछले साल में पूरे देश की आरोग्य व्यवस्था और सही दवाओंकी उपलब्धता की ओर आपने ध्यान दिया होता, तो ये नौबत आती ही नहीं।ये मुखिया की बड़ी गलती है।’

बता दें कि देश में कोरोना महामारी के आगे स्वास्थ्य व्यवस्था लाचार नजर आ रही है। ऑक्सीजन की कमी के चलते लोगों की मौत हो रही है। बेड और आईसीयू के लिए लोग चक्कर लगा रहे हैं। ऐसे में लोग सरकार को दोष देते हुए सवाल पूछ रहे हैं कि पिछले एक साल में क्या तैयारियां की गईं? पश्चिम बंगाल में रैलियों को लेकर भी विरोधियों ने पीएम मोदी को घेरा था। हालांकि अब मोदी ने अपनी रैलियों को रद कर दिया है।

Next Stories
1 दिल्ली में ‘बेबस’ अस्पताल, मरीजों से बोले- कहीं और ले जाओ, शायद जान बच जाए
2 बेटे को खो चुके सीताराम येचुरी की पीएम मोदी से अपील, सबको लगे टीका, सबको मिले ऑक्सीजन
3 भूपेश बघेल से बोले प्रभु चावला, जब मौका मिलेगा पूछूंगा पीएम से सवाल, जवाब मिला- न नौ मन तेल होगा न राधा नाचेगी
यह पढ़ा क्या?
X