ताज़ा खबर
 

दाऊद इब्राहिम को पकड़ने के लिए नरेंद्र मोदी ने बनाई 50 अफसरों की टीम

भारत के मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम को पकड़ने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने एक ब्लू प्रिंट तैयार किया है। इसके तहत मोदी ने 50 लोगों की एक स्पेशल टीम को दाऊद के पीछे लगाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत का मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम। (फाइल फोटो)

भारत के मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम को पकड़ने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने एक ब्लू प्रिंट तैयार किया है। इसके तहत मोदी ने 50 लोगों की एक स्पेशल टीम को दाऊद के पीछे लगाया है। एबीपी न्यूज चैनल के मुताबिक, दाऊद भारत सरकार से इस प्लान से डर गया है। खबर के मुताबिक, बनाई लगई टीम दाऊद के हर कदम पर बारीकी से नजर रख रही है। इसके डर से कराची में रह रहा दाऊद वहां से बाहर नहीं जा रहा। खबर यह भी है कि दाऊद बनाई गई टीम के रडार से बाहर हो गया है। बनाई गई टीम दाऊद के काले कारोबार की भी जांच कर रही है। माना जा रहा है कि इस वक्त दाऊद की ताकत कम हो गई है। दाऊद के कुछ बीमारियों भी हो गई हैं जिनकी वजह से उसे काम संभालने में परेशानी होती है। ऐसे में सरकार दाऊद की कमजोरी का फायदा उठाकर उसे पकड़ने की पूरी कोशिश कर रही है।

इससे पहले सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेंस्टिगेशन (सीबीआई) ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खिलाफ सबूत जुटाने के लिए पाकिस्तान से संपर्क किया था। महाराष्ट्र सरकार के अनुरोध में सीबीआई ने इस मामले को अपने हाथ में लिया था। मिली जानकारी के मुताबिक, सीबीआई ने दाऊद के गुटखा कारोबार से जुड़ी जानकारी मांगी थी। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, जानकारी जुटाने के लिए लेटर पाकिस्तान के साथ-साथ ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात को भी भेजा गया है। गुटखे का धंधा दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम चलाता है । ऐसा आरोप है कि अनीस इब्राहिम ने साल 2002 में 2.16 लाख रुपए में गुटखा पाउच बनाने की मशीनें खरीदी थी और फिर अन्य सहयोगियों की मदद से उन्हें कराची में उसके पास भेजा गया था।

Read Also: दाऊद इब्राहिम के परिवार में जश्न का माहौल, भांजे के निकाह में नहीं नजर आया DON

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App