ताज़ा खबर
 

आजम बोले- अगर पीएम मोदी स्वाभिमानी हैं तो लंदन से टीपू सुल्‍तान की राम नाम वाली अंगूठी लाएं

18वीं सदी में मैसूर के बादशाह रहे टीपू सुल्‍तान की जयंती मनाने को लेकर कर्नाटक में हिंदू संगठनों और राज्‍य सरकार में चल रहे टकराव के बीच समाजवादी पार्टी नेता और यूपी के मंत्री आजम खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक अपील की है।
एक विदेश पीएम नरेंद्र मोदी।

18वीं सदी में मैसूर के बादशाह रहे टीपू सुल्‍तान की जयंती मनाने को लेकर कर्नाटक में हिंदू संगठनों और राज्‍य सरकार में चल रहे टकराव के बीच समाजवादी पार्टी नेता और यूपी के मंत्री आजम खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक अपील की है। आजम ने पीएम से मांग की है कि वह ब्रिटेन यात्रा के दौरान टीपू सुल्‍तान की तलवार और वो अंगूठी वापस लेकर आएं, जिस पर राम नाम लिखा हुआ है। अगर हमारे प्रधानमंत्री जरा सा भी स्वाभिमानी हैं तो कोहिनूर लेकर जरूर जाएंगे।

आजम ने कहा कि वह जो बात कह रहे हैं, उसे झूठ नहीं कहा जा सकता है, क्‍योंकि इतिहास में इसके स्‍पष्‍ट प्रमाण मिलते हैं। टीपू सुल्‍तान सोने की अंगूठी पहना करते थे, जिस पर आज भी राम नाम अंकित है और यह अंगूठी, तलवार दोनों लंदन के म्‍यूजियम में रखे हैं।

उन्‍होंने पीएम से कहा कि वह भारत की ऐतिहासिक धरोहरों को देश लाने का प्रयास करें। टीपू की अंगूठी और तलवार के अलावा आजम खान ने पीएम मोदी से भारत का कोहिनूर हीरा भी वापस लाने की बात कही है। आजम खान ने रामपुर में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि टीपू सुल्तान के नाम पर विवाद करने से कुछ हासिल नहीं होगा। उन्‍होंने अंग्रेजों से जंग लड़ते हुए न केवल प्राण गवाए बल्कि कई कुर्बानियां भी दीं। आजम ने कहा कि विशाखापटनम की लड़ाई में जब उनकी मौत हुई तो लोग उसे शहादत कहते हैं। हम भी उसे शहादत कहते हैं। टीपू सल्‍तान ने मरते-मरते उस अंग्रेज जनरल को मार दिया था, जिसने उन पर हमला किया था।

Also Read…

टीपू सुल्तान पर खिंची तलवार, गिरीश कर्नाड-भाजपा सांसद को जान से मारने की धमकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    Kamal K
    Nov 13, 2015 at 11:33 am
    आजम खान साहब आप शायद यह भूल रहे हैं कि मोदी जी असल धरोहर से ज्यादा दिलचस्पी विदेशी निवेश में रखते हैं . वैसे आप की मांग सौ फीसद जायज है .
    (1)(0)
    Reply
    1. Muhammed Abdullah
      Nov 13, 2015 at 1:12 pm
      एक जिहादी दूसरे जिहादी की यादें , टीपू एक जिहादी था जिसका मकसद पूरी दुनिया में इस्लाम फैलाना था , वो निर्दोष लोगो के मरने , उनके चर्च मंदिर तोड़ने और isis के बगदादी जैसे काम करता था
      (0)(0)
      Reply