ताज़ा खबर
 

जिस NCP को कभी मोदी ने बताया था भ्रष्‍टाचारवादी पार्टी, उसी के अध्‍यक्ष शरद पवार को मिलेगा पद्म विभूषण

पवार की पार्टी पर और उसके नेताओं पर कभी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीखे हमले किए थे।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता शरद पवार को इस साल देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से नवाजा जाएगा।

केंद्र सरकार ने बुधवार को पद्म पुरस्‍कार विजेताओं के नामों की घोषणा की। जहां इस सूची में कई मशहूर खिलाड़‍ियों, राजनेताओं के नाम शामिल हैं, वहीं कुछ अनजान मगर समाज के लिए काम करने वाली शख्सियतों को भी पद्म पुरस्‍कार से नवाजे जाने की घोषणा की गई है। इस साल पद्म सम्मान पाने वालों में भारतीय कप्तान विराट कोहली, ओलिंपिक मेडलिस्ट साक्षी मलिक, जिमनास्ट दीपा करमाकर भी शामिल हैं। भारत रत्न के लिए किसी का चयन नहीं किया गया है। यह सम्मान पाने वालों में दिग्गज गायक केजी येसुदास, जम्मू-कश्मीर के दिवंगत मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद, दिवंगत लोकसभा स्पीकर पीए संगमा और मध्यप्रदेश के दिवंगत मुख्यमंत्री सुंदर लाल पतवाह भी शामिल हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता शरद पवार और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली नोहर जोशी को इस साल देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से नवाजा जाएगा। पवार की पार्टी पर और उसके नेताओं पर कभी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीखे हमले किए थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 अक्‍टूबर, 2014 को महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करते हुए एनसीपी को ‘नैचुरली करप्‍ट पार्टी’ करार दिया था। हालांकि उसी समय शरद पवार ने कहा था कि वह ‘निजी हमले’ कर पीएम के पद की गरिमा का अपमान कर रहे हैं। मोदी ने प्रचार के दौरान कहा था कि यह (एनसीपी) एक राष्‍ट्रवादी पार्टी नहीं, बल्कि एक भ्रष्‍टाचारवादी पार्टी है। उन्‍होंने अपने भाषण में कहा था, ”एनसीपी प्राकृतिक रूप से भ्रष्‍ट है। जब से पार्टी पैदा हुई है कुछ नहीं बदला है, उनके नेता भी वैसे ही रहे हैं। क्‍या आप जानते हैं कि उनकी घड़ी (पार्टी का चुनाव चिन्‍ह) का मतलब क्‍या है? घड़ी 10 बजकर 10 मिनट दिखाती है जो बताती है कि 10 सालों में उन्‍होंने अपनी भ्रष्‍टाचारी गतिविधियां 10 गुना बढ़ा ली हैं।”

सरकार ने किया पद्म पुरस्‍कार विजेताओं का ऐलान:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App