ताज़ा खबर
 

72 हजार राइफल, 52 ड्रोन और 111 चॉपर खरीदने की तैयारी

सरकार ने हाल ही में सेना, वायुसेना और नौसेना के लिए साजो-सामान खरीदने को लेकर कई अहम करार किए हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार मौजूदा कार्यकाल के आखिरी साल में देश के जंगी बेड़े को मजबूत बनाने के हर संभव प्रयास कर रही है। सरकार ने हाल ही में सेना, वायुसेना और नौसेना के लिए साजो-सामान खरीदने को लेकर कई अहम करार किए हैं। इनमें एसॉल्ट राइफल, 54 हमलावर ड्रोन और 111 नेवल हेलीकॉप्टर शामिल हैं। ये फैसले ऐसे समय पर लिए गए हैं, जब देश में राफेल जेट विमान डील को लेकर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और अन्य पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर रुख अपना रही हैं। जानिए रक्षा मंत्रालय ने इस संबंध में फिलहाल क्या कदम उठाए हैं:

थल सेना के लिए 72,000 एसॉल्‍ट राइफल्‍स, जर्मन कंपनी से करारः भारत सरकार ने इसके अलावा सेना के लिए 72 हजार सिग सॉर असॉल्ट राइफल्स खरीदने के लिए जर्मनी की कंपनी से करार किया है। यह निर्णय फास्ट्रैक प्रक्रिया के तहत लिया गया है।

IAF का जंगी खेमा भी होगा मजबूत, इजराइली हमलावर ड्रोन को मंजूरीः रक्षा मंत्रालय ने इजराइल मूल के हमला करने वाले 54 हारोप ड्रोन को मंजूरी दे दी है। दुश्मनों को नेस्तनाबूद करने के लिए ये उनके पास जाकर क्रैश होंगे। मौजूदा समय में वायुसेना के पास ऐसे 110 ड्रोन हैं, जिनका नाम पी-4 रखा जा चुका है। इनमें इलेक्ट्रो ऑप्टिकल सेंसर भी लगा होता है, जिससे दुश्मनों के ठिकाने के बारे में भी पता लगाया जा सकता है।

नौसेना के बेड़े में आएंगे 111 चॉपर, तलाशे जा रहे रणनीतिक साझेदारः मोदी सरकार नौसेना के लिए 111 हेलीकॉप्टर खरीदेगी। रक्षा मंत्रालय ने इस बाबत इच्छा जताई है और पत्र (एक्सप्रेशन ऑफ इंस्ट्रेस्ट) जारी किया है। सरकार फिलहाल स्ट्रैटेजिक पार्टनर और विदेशी ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरर (ओईएम) की तलाश में हैं, जिसके जरिए वह इन 111 नेवल यूटिलिटी हेलीकॉप्टर्स का बंदोबस्त करेगी। ऐसा पहली बार रणनीतिगत साझेदारी (एसपी) मॉडल के तहत हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App