Narendra Modi Government want to Humilate Rahul Gandhi that is why they alloted him Fourth Row Seat at Republic Day Parade says Congress - गणतंत्र दिवस परेड: राहुल गांधी को चौथी कतार में मिली जगह, कांग्रेस बोली- अपमान कर रही है मोदी सरकार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गणतंत्र दिवस परेड: राहुल गांधी को चौथी कतार में मिली जगह, कांग्रेस बोली- अपमान कर रही है मोदी सरकार

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, साल 2014 और नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी पहली पंक्ति में बैठती थीं। बीते साल की परेड में उन्हें पहली पंक्ति में बैठने के लिए जगह दी गई थी, लेकिन इस बार पार्टी अध्यक्ष के लिए चौथी कतार में बैठने के लिए जगह निर्धारित की गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली में आयोजित होने वाले परेड के कार्यक्रम में चौथी कतार में बैठने के लिए जगह निर्धारित की गई है। (फोटोः पीटीआई/फेसबुक)

कांग्रेस ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर अपने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अपमानित करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने दावा किया है कि नई दिल्ली में 26 जनवरी (शुक्रवार) को होने वाले गणतंत्र दिवस के परेड के कार्यक्रम में राहुल को चौथी पंक्ति में बैठने के लिए जगह दी गई है। पार्टी ने इसी बाबत कहा कि ऐसा कर पीएम मोदी राहुल का अपमान करना चाहते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, साल 2014 और नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी पहली पंक्ति में बैठती थीं। बीते साल की परेड में उन्हें पहली पंक्ति में बैठने के लिए जगह दी गई थी, लेकिन इस बार पार्टी अध्यक्ष के लिए चौथी कतार में बैठने के लिए जगह निर्धारित की गई है।कांग्रेस का यह भी कहना है कि राहुल को चौथी पंक्ति में बैठने पर कोई आपत्ति नहीं है, पर इससे यह तथ्य नहीं बदल जाएगा कि केंद्र की भाजपा सरकार उन्हें अपमानित करना चाहती है।

कांग्रेस नेता चरण सिंह सपरा ने इस बारे में आगे कहा, “उन्हें (राहुल) वहां बैठने में कोई हर्ज नहीं है…, लेकिन सरकार ने ऐसा सिर्फ और सिर्फ अपमानित करने के लिए किया है।” वहीं, सत्तारूढ़ दल भाजपा का इस मसले पर कहना है कि ऐसा आसियान के कार्यक्रम को लेकर हुआ है।

भाजपा की ओर से सुंधाशू मित्तल ने कहा, “बीते सालों में कभी इतनी भारी संख्या में मेहमान और प्रतिनिधिमंडल नहीं आए, लेकिन हमें उन सभी स्वागत करना है।” मित्तल ने आगे यह भी कहा कि पहली पंक्ति की सीटें मेहमानों के लिए आरक्षित रखी गई हैं। आपको बता दें कि इस बार 26 जनवरी के मौके पर दिल्ली में 10 आसियान देशों के प्रमुख भी हिस्सा लेंगे, जिनमें ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलिपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App